बाकानेर~जुनेराह ने पहला रोजा रख दुआएं मांगी~~

सैयद रिजवान अली बाकानेर~~

बाकानेर~कहते हैं बेटियां नूर होती है शान और शौकत होती हैं जन्नत में भेजने का जरिया होती है घर आंगन की खुशहाली होती है कोरोना महामारी के बीच भीषण गर्मी में 42 डिग्री के तापमान में 6 साल की बेटी जुनेराह डॉक्टर वसीम शेख सेंधवा ने नाना मोहम्मद यूनुस कुरैशी बाकानेर के घर अपनी जिंदगी का पहला रोजा रमजान मुबारक माह पर्व में रखकर देश दुनिया में अमन चैन भाईचारा कायम रहे बहन बेटियां खुश रहे और कोरोना महामारी हमेशा के लिए दुनिया से चली जाए दुआएं मांगते हुए रोजा रखकर खुदा वंद करीम से पांचों वक्त नमाज पढ़कर दुआएं मांगी अल्लाह सब की सुनता है खास करके मासूम बच्चों की जल्दी सुनता है जल्दी ही कोरोना महामारी उसे पूरी दुनिया को खास करके भारत को निजात मिलेगी आमीन


Share To:

Post A Comment: