खिलेडी/दसई~~ नगर के हरदेवलाला मन्दिर परिसर मे स्थित पीपल के पेड पर महिलाओ ने पुजा कर सुती धागा बांधकर घर की अच्छी दशा एवं सुख संपत्ति की कामना की~~

जगदीश चौधरी खिलेडी 6261395702~~

खिलेडी/दसई~~ नगर के हरदेवलाला मन्दिर परिसर मे स्थित पीपल के पेड पर महिलाओ ने पुजा कर सुती धागा बांधकर घर की अच्छी दशा एवं सुख संपत्ति की कामना करते  हुए दशामाता का पुजन की़या।

भजन गाते हुए पीपल के वृक्ष  की परिक्रमा की एवं हरदेवलाला मंदिर परिसर में पंडित कन्हैयालाल शर्मा जी द्धारा दशामाता व्रत की कथा महिलाओं ने सुनी अपने घर के आंगन की दीवार पर हल्दी के दस छापे लगाए ।

नगर  में कई जगह हुआ पीपल के पेड़ का पूजन

नगर के निचला मोहल्ला, संजय कॉलोनी, कुम्हार पाट,गंगाजलिया आदि जगह पर भी पीपल के पेड़ की पुजा की गई। सभी स्थानों पर प्रातः 6 बजे से ही महिलाओं ने पूजन अर्चना का कार्य प्रारंभ कर दिया था जो दिनभर चला।

खजूर के दस खोड़े का पूजन

दशामाता पूजन के दिन जहां महिलाओं ने  पीपल के वृक्ष का पूजन किया  वही सुबह पुरुष वर्ग जंगल में से खजूर के पेड़ से दस खजूर के खोडे काट कर लाए ।महिलाओं ने उसका घर पर पूजन किया । महिलाओं का मानना है कि  इनमें लक्ष्मी का वास होता है। जिन्हे  महिलाएं बाद में  खजूर के खोडो से झाड़ू बनाकर वर्षभर घर में साफ सफाई के लिए उपयोग में लेती है।

घर के आंगन की दीवार पर हल्दी के दस छापे लगाए

दशा माता के दिन पीपल के वृक्ष का पूजन करने के बाद जब महिलाएं घर आती है तो घर के आंगन की दीवार पर हल्दी से अपने हाथों के दस छापों के निशान बनाती है और अपने घर की सुख संपत्ति की कामना करती
हैं।


Share To:

Post A Comment: