बड़वानी~हम महामारी से जूझ रहे है ऐसे में हमारा दायित्व है कि हम रोगियों को अच्छे से अच्छा ईलाज नाम मात्र के शुल्क पर उपलब्ध कराये - कलेक्टर श्री वर्मा~~

बड़वानी / हम महामारी से जूझ रहे है, ऐसे समय आमजनों को अच्छा ईलाज कम से कम शुल्क पर मिले, यह हमारा दायित्व है । इसके लिये सभी प्रायवेट चिकित्सा संस्थान अपने यहाॅ कोविड बेड की संख्या, उसमें से कितने भरे है, कितने रिक्त है। इसकी जानकारी सार्वजनिक रूप से प्रदर्शित करेंगे । और जिला प्रशासन के साथ बैठक में तय शुल्क से ज्यादा नहीं लेंगे । संस्था में कोरोना पाजिटिव व कोरोना  संभावित लोगो को अलग-अलग रखकर ईलाज करेंगे । कौन पाजिटिव है और कौन संभावित है। इसकी स्पष्ट जानकारी मरीज के अटेंडरो को देंगे । जिससे पारदर्शित बनी रहे और कही पर भी असंतोष पनपने न पाये । अगर कही पर कोरोना रोगी से अधिक शुल्क लेने या गुमराह करने की शिकायत आयेगी तो दोषी संस्थान के विरूद्ध कठौर कार्यवाही की जायेगी ।
कलेक्टर श्री शिवराजसिंह वर्मा ने सोमवार को कलेक्टरेट में आयोजित जिले के प्रायवेट चिकित्सा संस्थानो के पदाधिकारियों की बैठक के दौरान उक्त बाते कही । बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री ऋतुराजसिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. अनिता सिंगारे, सिविल सर्जन डाॅ. राजेश जैन,  एसडीएम बड़वानी श्री घनश्याम घनगर, डिप्टी कलेक्टर सुश्री अशंु जावला सहित बड़वानी के प्रायवेट चिकित्सा संस्थान साईबाबा जीवनधारा, मनोरमा, संजीवनी, श्री गुरूपद, महामृत्युजय, बालाजी, माॅ शारदा हास्पिटल तथा सेंधवा के करूणा हास्पिटल, आंनंदम हास्पिटल, श्री नारायणदास हास्पिटल के पदाधिकारी तथा प्रायवेट लेब के संचालनकर्ता उपस्थित थे ।
बैठक में तय शुल्क:-
ऽ सभी प्रायवेट संस्थान कोरोना आईसीयू के ढाई हजार रूपये, प्रायवेट वार्ड के 2 हजार रूपये तथा जनरल वार्ड के 500 रूपये प्रतिदिन से ज्यादा नहीं ले सकेंगे । वहीं जनरल वार्ड में आक्सीजन समेत यह राशि प्रतिदिन ढेड हजार रूपये से अधिक नहीं होगी ।
ऽ प्रायवेट चिकितसा संस्थान बाहर से चिकित्सक बुलाने पर एमबीबीएस डाक्टर हेतु 300 रूपये एवं एमडी डाक्टर हेतु 500 रूपये प्रति विजिट शुल्क ले सकेंगे ।
ऽ आक्सीजन की आवश्यकता पड़ने पर प्रति जम्बो सिलेण्डर के एक हजार रूपये चार्ज लिया जा सकेगा । किन्तु यह चार्ज प्रतिदिन 3 हजार रूपये से अधिक नहीं हो सकेगा ।
ऽ सिटी स्केन हेतु अधिकतम 3 हजार रूपये की दर रहेगी ।
ऽ जिले में शासकीय स्तर पर आशाग्राम बड़वानी, जामली ( सेंधवा ) एवं खेतिया में बनने वाले कोरोना वार्ड में भर्ती होने वाले रोगियों से सिटी स्केन हेतु 2 हजार रूपये से अधिक की राशि नही ली जा सकेगी ।
ऽ प्रायवेट चिकित्सा संस्थान में उक्त शुल्क के अतिरिक्त मेडिसीन का शुल्क अलग से लिया जा सकेगा ।
ऽ जिला प्रशासन सुनिश्चित करायेगा कि प्रायवेट चिकित्सा संस्थानो को भी शासकीय दर पर आक्सीजन सिलेण्डर की सप्लाई नियमित रूप से मिलती रहे।
ऽ जिले के प्रायवेट चिकित्सा संस्थानों की प्रतिदिन मानीटरिंग हेतु नामजद अधिकारी की नियुक्ति की जायेगी । जो प्रतिदिन संस्थानो में जाकर कोविड वार्डो की समुचित जानकारी लेकर गुगल सीट में इन्द्राज करेगा । जिससे सम्पूर्ण जिले में प्रतिदिन भरे एवं रिक्त बेड की जानकारी सार्वजनिक रूप से प्रदर्शित की जा सके ।
ऽ प्रायवेट चिकित्सा संस्थानो में गंभीर रूप से आने वाले संभावित कोरोना रोगियों की रेपिड ऐंटीजन टेस्ट, जिला चिकित्सालय में किया जायेगा । जिससे 2 घण्टे में सुनिश्चित हो सके कि संबंधित रोगी कोरोना पीडित है या नहीं ।
ऽ सभी प्रायवेट चिकित्सा संस्थान केन्द्र सरकारी की जारी गाईड लाईन अनुसार ही कोरोना रोगियों का उपचार करेंगे। अगर इस कार्य में कोई परेशानी हो तो मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से मार्गदर्शन प्राप्त करेंगे ।


Share To:

Post A Comment: