*बुरहानपुर~जिले में बिना आरटी-पीसीआर/आरएटी नेगेटिव रिपोर्ट के प्रवेश प्रतिबंधित*~~

बुरहानपुर(मेहलका इकबाल अंसारी)

अपर कलेक्टर बुरहानपुर श्री शैलेन्द्र सिंह ने व्यापक लोकहित के दृष्टिकोण से जन सामान्य एवं लोक शांति को बनाएं रखने के उद्देश्य से दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 में निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया हैं।
जारी निर्देशानुसार महाराष्ट्र राज्य एवं अन्य राज्यों से बुरहानपुर जिले में (सड़क मार्ग/रेल मार्ग/वायु मार्ग/दो पहिया वाहन) आने वाले समस्त यात्रीगण/आम नागरिकों को बुरहानपुर जिले  में  प्रवेश के पूर्व आरटी-पीसीआर/आरएटी की 72 घंटे पूर्व की नेगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करना अनिवार्य है। आरटी-पीसीआर/आरएटी नेगेटिव रिपोर्ट के बिना जिले की सीमा में प्रवेश प्रतिबंधित रहेंगा। बिना आरटी-पीसीआर/आरएटी नेगेटिव रिपोर्ट के प्रवेश करने पर संबंधित के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी।
    बार्डर सीमा व रेल्वे स्टेशन पर तैनात टीम का दायित्व रहेंगा कि वे बुरहानपुर जिले में महाराष्ट्र एवं अन्य राज्यों से आने वाले प्रत्येक वाहनों एवं ट्रेन से आने वाले यात्रीगण/आमजनों द्वारा आरटी-पीसीआर/आरएटी की 72 घंटे पूर्व की नेगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करने पर ही उन्हें बुरहानपुर जिले में प्रवेश देंगे। बिना आरटी-पीसीआर/आरएटी नेगेटिव रिपोर्ट के जिले में प्रवेश देने पर दोषी अधिकारी/कर्मचारी के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेंगी। 
     बार्डर सीमा व रेल्वे स्टेशन पर तैनात टीम का यह भी दायित्व रहेंगा कि वे बुरहानपुर जिले में आरटी-पीसीआर/आरएटी नेगेटिव रिपोर्ट के साथ आने वाले आमजनों की सूची तैयार कर प्रतिदिन मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बुरहानपुर एवं आयुक्त नगर पालिका निगम को देंगे। 
कोई भी व्यक्ति जो इस आदेश का उल्लंघन करता है, तो उस पर आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51 से 60 के प्रावधानों के तहत कानूनी कार्यवाही के साथ आईपीसी की धारा 188 और अन्य कानूनी प्रावधान लागू होते है, जिसके तहत कार्यवाही की जायेगी।


Share To:

Post A Comment: