*बुरहानपुर~ग्राम ईच्छापुर की पेयजल की समस्या के निराकरण हेतु पूर्व मंत्री श्रीमती चिटनिस के प्रयासों के बाद कलेक्टर ने दिए कड़े निर्देश*~~

बुरहानपुर(मेहलका इक़बाल अंसारी)

ग्राम ईच्छापुर की पेयजल समस्या को लेकर मध्यप्रदेश की पूर्व कैबिनेट मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस (दीदी) के प्रयासों के परिणाम स्वरूप कलेक्टर प्रविणसिंह ने समस्या के त्वरित निराकरण हेतु संबंधित विभागों की आपात बैठक बुलाकर कड़े निर्देश दिए। विगत दिवस पूर्व मंत्री श्रीमती चिटनिस, कलेक्टर प्रविणसिंह, जिला पंचायत सीईओ सुश्री अदिती गर्ग व जनपद पंचायत अध्यक्ष किशोर पाटिल की विशेष उपस्थिति में कलेक्टर कार्यालय में जिला पंचायत, जनपद पंचायत बुरहानपुर, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, ग्रामीण सेवा यांत्रिकी विभाग, विद्युत विभाग, राजस्व विभाग सहित संबंधित विभागों के अधिकारियों बीच समन्वय स्थापित करते हुए आपात बैठक आयोजित की गई। जिसमें विस्तृत चर्चा करते हुए अनेक निर्णय लिए गए। तत्पश्चात ग्राम ईच्छापुर में कलेक्टर के निर्देश पर रविवार को ग्राम के वरिष्ठ नागरिकों और संबंधित विभागों के बीच एक समन्वय बैठक हुई। इसमें जल समिति का गठन कर समस्या के समाधान हेतु कार्य को गति प्रदान की गई।
श्रीमती चिटनिस ने ग्रामीणों के बीच जाकर जानी थी समस्या
ज्ञात हो कि पूर्व मंत्री श्रीमती चिटनिस समस्या के स्थायी समाधान हेतु लगातार प्रयासरत है। विगत दिनों श्रीमती चिटनिस ने ग्राम ईच्छापुर पहुंचकर ग्राम के वरिष्ठ नागरिकों एवं ग्रामीणों से चर्चा कर पेयजल समस्या जानी थी। समस्या के त्वरित निराकरण हेतु संबंधित अधिकारियों को मौका स्थल का निरीक्षण कराकर कलेक्टर बुरहानपुर से चर्चा की थी। जिसके बाद कलेक्टर ने श्रीमती चिटनिस की विशेष उपस्थिति एवं जनप्रतिनिधियों व सभी विभागों की बैठक आहूत कर विस्तार से चर्चा की। चर्चा उपरांत कलेक्टर ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया और कड़े निर्देश जारी करते हुए समस्या का निराकरण हेतु कहा गया।

*पानी की कमी नहीं, आपसी तालमेल का अभाव, पेयजल आपूर्ति की जिम्मेदार संस्था का कुप्रबंधन*
पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस ने कहा कि ग्राम ईच्छापुर में वर्तमान समय में माह में मात्र 2 बार पेयजल आपूर्ति हो रही है। यह स्थिति त्रासदीपूर्ण होकर अमानवीय है। इस स्थिति का मुख्य कारण संबंधित विभागों में आपसी तालमेल की कमी व पेयजल आपूर्ति की जिम्मेदार संस्था का कुप्रबंधन है। पेयजल आपूर्ति समस्या के निराकरण हेतु जिला पंचायत, विद्युत विभाग एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में समन्वय स्थापित किया जाना अतिआवश्यक है। मेरे पिछले 10 वर्षों के कार्यकाल में इस समस्या के समाधान हेतु निरंतर प्रयास किए जाते रहे है और गांव में पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित की जाती रही है।
बैठक में श्रीमती चिटनिस ने बताया कि ग्राम ईच्छापुर-अंतुर्ली पेयजल पाईप लाईन लगभग 5 किलो मीटर लंबाई की है। इतनी अधिक दूरी से पेयजल आपूर्ति होने के कारण तकनीकी रूप से उसमें एयरवॉल लगाना नितांत आवश्यक है। इसके अभाव में हवा के दबाव से पाईप लाईन में आए दिन टूट-फूट होती रहती है। जिससे ग्राम ईच्छापुर में पेयजल आपूर्ति बाधित होती है। व्यापक जनहित में उक्त पाईप लाईन पर प्रति 500 मीटर के उपरांत एक एयरवॉल लगाए जाने से उक्त समस्या का स्थाई समाधान हो सकेगा।
ग्राम ईच्छापुर की पेयजल आपूर्ति समस्या के निराकरण के लिए इंदिरा नगर का ट्यूबवेल, शमशान का भूमि कुआं, वन विभाग का कुआं, बजरंग बली तालाब का कुआं, छोटा बजरंग बली तालाब ट्यूबेवल, वामन बारी जी का कुआं, दरभानी कुआं, चौधरी ढाबे के पीछे का कुआं, अंतुर्ली ट्यूबवेल, भोटा रोड ट्यूबवेल इत्यादि स्त्रोतों को व्यवस्थित कर परस्पर समन्वय और तालमेल से चलाया जाए तो गांव में पेयजल समस्या का स्थायी समाधान हो सकता है। इस हेतु पानी की टंकी बस स्टैंड, पानी की टंकी बुरहानपुर रोड और भोटा रोड स्थित टंकी का समुचित उपयोग भी किया जाना नितांत आवश्यक है। वहीं ग्राम ईच्छापुर में दत्त मंदिर के पास एक ट्यूबवेल स्थित है, किन्तु वहां ट्रांसफार्मर नहीं होने के कारण उसका पेयजल आपूर्ति में समुचित उपयोग नहीं हो पा रहा है एवं पूरे कस्बे में पेयजल समस्या बनी हुई है। इस स्थान पर एक ट्रांसफार्मर लगाने से वहां की पेयजल समस्या का निराकरण संभव हो सकेंगा।

*लापरवाही पर पंचायत सचिव निलंबित*
इतने लंबे समय से ग्राम ईच्छापुर में चल रहे पेयजल संकट का संज्ञान लेते हुए कलेक्टर बुरहानपुर द्वारा लापरवाह पंचायत सचिव को निलंबित कर दिया गया है।
इस दौरान वीरेन्द्र तिवारी, वामन माली, गणेश महाजन, डॉ.किशोर डी पाटिल, अप्पा माली, विजय सपकाले, शैलेश महाजन, बिस्मिल्ला बागवान, संजय चौधरी सहित अन्य ग्रामीणजन मौजूद रहे।


Share To:

Post A Comment: