झाबुआ~आंशिक लॉकडाउन है.....इनकम टैक्स रिटर्न की तारीख बढऩा किसी काम की नही रही...?आखिरी तारीख आगे बढ़ाना होगी ~~





झाबुआ ।संजय जैन~~

व्यापारियों  की सुविधा के लिए सरकार ने जीएसटी एवं इनकम टैक्स रिटर्न की आखिरी तारीख बढ़ाई थी़ लेकिन 9 अप्रैल से लॉकडाउन लगा हुआ था। तारीख बढऩे के बाद के बाद भी व्यापारियों को फायदा नहीं मिल पाया। वजह दुकानें बंद होना है। दुकानों के साथ ही सीए और कर सलाहकार के भी दफ्तर बंद थे। नतीजतन तारीख बढऩे के बाद भी व्यापारी रिटर्न दाखिल नहीं कर पाये।






आखिरी तारीख आगे बढ़ाना चाहिए....
जीएसटी कौंसिल ने 1 मई को नोटिफिकेशन जारी कर जीएसटी रिटर्न की आखिरी तारीख 31 मई तक बढ़ायी थी।लेकिन 31 मई तक लॉकडाउन  से व्यापारिक संस्थान बंद होने से कारोबारी रिटर्न की तैयारी नहीं कर पाए। वहीं कर सलाहकार के ऑफिस भी बंद होने से रिटर्न फाइल नहीं हो पाये। इसी तरह आयकर विभाग ने भी बर्ष 2019-20 के आयकर रिटर्न की आखिरी तारीख को 31 मई तक बढ़ाया था,लेकिन 31 मई तक लॉकडाउन होने से फायदा नही मिल पाया। कर सलाहकार शैलेंद्र चौरे ने बताया शहर में तो 9 अप्रैल से ही लॉकडाउन लगा था। इससे तारीख बढऩे के बाद भी व्यापारियों को इसका फायदा नहीं मिल पाया। ऐसे में जिन राज्यों एवं शहरों में लॉकडाउन लगा था। अब आगे



व्यापारियों को राहत मिलना चाहिए और आखिरी तारीख आगे बढ़ाना चाहिए।


रिटर्न का तारीखवार खुलासा समझिए.........
वर्ष 2019-20 के इनकम टैक्स रिटर्न की आखिरी तारीख 31 मई थी। लेट फीस के साथ रिटर्न फाइल किए जा सकते हैं। लोगों की सुविधा के लिए सरकार ने आखिरी तारीख बढ़ाकर  31 मई की थी लेकिन यह तारीख भी लॉकडाउन में गुजर गई।


-जीएसटी रिटर्न ........
5 करोड़ रुपए से ज्यादा टर्नओवर वाले व्यापारियों के लिए मार्च 3 बी रिटर्न की आखिरी तारीख 5 मई और अप्रैल 3 बी रिटर्न की आखिरी तारीख 20 जून है। 5 मई तो निकल गई। वहीं लॉकडाउन यदि एक जून से खुलता है तो भी 20 जून तक अप्रैल तक के 3 बी रिटर्न की आखिरी तारीख होगी। इससे व्यापारियों को कम समय मिल पाएगा।


-जीएसटी आर-1 के मार्च महीने के रिटर्न की आखिरी तारीख 11 अप्रैल थी और अप्रैल महीने के रिटर्न की आखिरी तारीख 26 मई थी। यह दोनों ही तारीख लॉक डाउन में ही गुजर गई। जिसे अब 26 जून तक तो कर दिया है।


-5 करोड़ रुपए से कम टर्न औवर वाले व्यापारी को मार्च का 3 बी रिटर्न 22 मई तक जमा कराना था। इसकी तारीख निकल गई। वहीं अप्रैल 3 बी रिटर्न 22 जून तक जमा कराना है। अब लॉक डाउन एक जून से आंशिक खुला है जिससे इसके लिए भी व्यापारियों को बहुत कम समय ही मिलेगा।


-मार्च तक के तिमाही रिटर्न की आखिरी तारीख 13 अप्रैल थी। यह भी लॉकडाउन में ही गुजर गई।


Share To:

Post A Comment: