धार~सिटी मजिस्ट्रेट शिवांगी जोशी और मेजर अनिकेत चतुर्वेदी की 500 रुपये में शादी, लोग कर रहे चर्चा*~~

धार ( डाँ. अशोक शास्त्री )

शहर की सिटी मजिस्ट्रेट शिवांगी जोशी ने भोपाल निवासी व आर्मी में मेजर अनिकेत चतुर्वेदी के साथ सोमवार को धार कोर्ट में सादगी से शादी की। इन दोनों की यह शादी लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी हुई है। इनकी शादी में मात्र 599 रुपये खर्च किए गए।
          बिना बैंड-बाजा और बारात के हुई इस शादी में फूल-माला व मिठाई के नाम पर मात्र 500 रुपये खर्च हुए। शादी के बाद इन्होंने सब रजिस्ट्रार कार्यालय में शादी का रजिस्ट्रेशन भी कराया। इस दौरान दूल्हा-दुल्हन के परिजन व स्टाफकर्मी मौजूद रहे।
          मूलरूप से भोपाल की रहने वाली सिटी मजिस्ट्रेट शिवांगी जोशी का रिश्ता दो साल पहले घर वालों ने भोपाल में ही रहने वाले मेजर अनिकेत चतुर्वेदी के साथ तय किया था, जो वर्तमान में लद्दाख में तैनात हैं।
कोरोना की वजह से शादी दो साल से टल रही थी। शिवांगी और अनिकेत ने घरवालों की सहमति से धार कोर्ट परिसर में सोमवार को बिना शोर शराबे और महंगे इंतजाम से दूर रहकर सादगी से कोर्ट मैरिज कर शादी का रजिस्ट्रेशन कराया और समाज में एक संदेश देने का भी निर्णय लिया।
शादी के बाद दोनों को राधा-कृष्ण की प्रेम प्रतीक गिफ्ट करते धार कलेक्टर व एडीएम।
          शादी के बाद नवदंपती ने धारेश्वर मंदिर पहुंच कर भगवान धारनाथ से आशीर्वाद लिया। धार में आयोजित समारोह में कलेक्टर आलोक कुमार सिंह, एडीएम सलोनी सिडाना सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।
शिवांगी जोशी ने इस मौके पर मौजूद कुछ मीडियाकर्मियों को बताया कि
          पिछले दो साल से कोरोना काल चल रहा है। ऐसे समय में कोरोना योद्धा के रूप में सेवा देना जरूरी समझा। इस दौरान हमने कई लोगों को खोया है। इस समय संक्रमण कम जरूर हुआ, लेकिन कोरोना अभी गया नहीं है। लोग भी नियमों का पालन करें।
          उन्होंने बताया कि सादगी से शादी करने का मकसद ये संदेश देना था कि लोग शादियों में फिजूलखर्च न करें। मैं शुरुआत से फिजूलखर्च के खिलाफ हूं। शादी में फिजूलखर्च से न केवल लड़की के परिवार पर बोझ पड़ता है बल्कि पैसों का दुरुपयोग भी होता है।
          बता दें कि सिटी मजिस्ट्रेट शिवांगी जोशी लॉकडाउन में सभी लोगों को यह सलाह देती थी कि विवाह समारोह सादगी से करें। कोरोना संक्रमण के इस काल में विशेष रुप से सावधानी रखें। उसी का अनुकरण उन्होंने खुद किया और अपनी कथनी को सच में बदला।
          इससे पहले धार में ही तैनात आईएएस अफसर और जिला पंचायत सीईओ आशीष वशिष्ठ और एडीएम सलोनी सिडाना ने भी सादगी से ही शादी की थी। वशिष्ठ और सिडाना भारतीय प्रशासनिक सेवा के 2014 बैच के अफसर हैं ।


Share To:

Post A Comment: