धार~टांडा पुलिस को मिली बडी सफलता
60 हजार के ईनामी बदमाश को पुलिस टीम ने पकड़ा~~

धार ( डाँ. अशोक शास्त्री )

पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रतापसिंह के निर्देशन में व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र पाटीदार जिला धार एवं एसडीओपी महोदय कुक्षी एव्ही सिंह के मार्ग-दर्शन में धार जिले में फरार ईनामी बदमाशो की धर पकड़ हेतु चलाए जा रहे अभीयान के तहत थाना प्रभारी टाण्डा को मुखबीर द्वारा सूचना प्राप्त हुई कीजामदा-भुतिया का कुख्यात ईनामी फरार बदमाश भुरू सरपंच निवासी पिपरपाड़ा, ग्राम भुतिया कामोटर सायकल से अपने ससुराल खनीअम्बा तरफ आया हुवा है।’’ सूचना पर से थाना प्रभारी टाण्डा द्वारा श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय एवं श्रीमान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय से मार्ग-दर्शन प्राप्त किया जाकर बाद आरोपी की तलाश में रवाना हुवा जो बदमाश भुरू गुड़ा घाटी के पास नरवाली तरफ से आता दिखा जो पुलिस को देखकर पास पहाड़ी पर चड़ा व मोटर सायकल छोड़कर खाई में कुद गया। जिसको थाना प्रभारी टाण्डा व फोर्स के द्वारा खाई में कुदकर करीबन 03 किमी पीछा कर बामुश्कील से पकड़ा व आरोपी भुरू उर्फ भुरसिंह के कब्जे से एक देशी 12 बोर कट्टा मय 02 जिन्दा करातुस जप्त कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया। आरोपी को गिरने से चोटे आई हुई हैं। आरोपी भुरू जामदा भुतिया गैंग का सरगना होकर गैंग के आरेपी सदस्यों को आर्थीक रूप से मदद करता था।
*पढ़ा लिखा होने के बाद बना बदमाश*
एसपी ने रविवार को जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी भुरू उर्फ भुरसिंह भुतिया का निवासी होकर कुख्यात एवं खुखांर बदमाश है जो भुतिया-होलीबयड़ा एवं आस-पास के गांवो के नामी बदमाशों के साथ मिलकर चोरी, लुट-डकेती, पुलिस पर हमला करना जैसी गंभीर घटनाए कारीत करता रहता है। भुरू उर्फ भुरसिंह पढा लिखा होकर शातिर बदमाश है जो ग्राम भुतिया व होलीबयड़ा के बदमाशो को एकत्रित कर उनका संचालन करता है। भुरू उर्फ भुरसिंह अपने कई साथी बदमाशों के साथ मिलकर भुतिया होलीबयड़ा व आस-पास के जंगलो में छिपकर रहता है व पुलिस फोर्स के द्वारा दबीश देने पर सभी बदमाश मिलकर अग्नेय शस्त्रों, तिर-कामठी एवं गोफनो से पुलिस फोर्स पर जानलेवा हमला करते है, यंहा तक की उक्त बदमाश मरने-मारने से भी नही डरते है और जब भी मौका मिलता है पुलिस फोर्स पर जानलेवा हमला कर शासकिय वाहनों पर पत्थर बाजी करकर नुकसान करते है। इससे पुर्व भी कई बार जिला धार के सभी थानों की पुलिस फोर्स के द्वारा मिलकर उक्त बदमाशों के गांव में जाकर गिरफ्तारी के प्रयास किए गए है परन्तु बदमाश काफी खुखांर होकर पुलिस फोर्स को देखकर कुर्राटी मारते है और जंगलो एवं पहाड़ीयो का सहारा लेकर पुलिस वाहनो पर अधांधुश बन्दुको, तिर-कामठी, पत्थरो से हमला कर देते है। बदमाशों का टीम बनाकर रहना तथा ग्राम भुतिया-होलीबयड़ा की भौगोलिक स्थिती उची पहाड़ीया व उनके बिच घने जंगल तथा संकरे कच्चे रास्तो की है पुलिस थाना टाण्डा की टीम के द्वारा अपनी जान की परवाह न करते हुवे उक्त बदमाश को बामुश्कील गिरफ्तार किया है।
*दबिश देने पर जंगल की ओर भाग जाते है बदमाश*
एसपी के अनुसार फरार ईनामी भुतिया के डकेतो के द्वारा लगातार क्षेत्र में व आस-पास के ईलाको में लगातार लुट-डकेती, अपहरण एवं हत्या जैसे जघन्य अपराध घटीत करते आ रहे है। जिस पर पुलिस द्वारा संयुक्त प्रभावशील कार्यवाही करने पर भी बदमाशों की गतिविधियों पर अंकुश नही लग पा रहा था। थाना क्षेत्र के भौगोलिक स्थिती पहाड़ी एवं घना जंगल होने से बदमाश भागने में सफल हो जाते है। बदमाश काफी संगठीत होकर डेकेतो के गिरोह का संचालन भुरू उर्फ भुरसिंह पिता ठाकुरसिंह उर्फ ठाकरिया जाति भील निवासी भुतिया का करता है। जिसके 20-25 साथीदारान होकर आए दिन डकेती, अपहरण की घटनाए कारीत करते है। यंहा तक की उक्त बदमाश मरने-मारने से भी नही डरते है और जब भी मौका मिलता है पुलिस फोर्स पर जानलेवा हमला कर शासकिय वाहनों पर पत्थर बाजी करकर नुकसान करते है। उक्त सभी बदमाश शातिर कुख्यात बदमाश होकर इनकी थानो क्षेत्रातंर्गत आम जनता में काफी दशहत है। इनके डर एवं दहशत के कारण फरियादी रिपोर्ट करने से भी डरते है।
*पुलिस पर किया था फायर*
थाना प्रभारी श्री वास्केल ने बताया कि बदमाश भुरू के द्वारा भुतिया-होलीबयड़ा के बदमाशो के साथ मिलकर ग्राम पिपरानी में से 05 लोगो का जिसमें महिलाए व बच्चे भी होकर जिनका अपहरण कर भुतिया ले जा रहे थे जिनका पिछा टाण्डा पुलिस द्वारा करते आरोपीयों द्वारा पुलिस के उपर बंदुको एवं देशी कट्टे से जान से मारने की नियत से फायर किए थे जिसमें आरोपीयो की गोली थाना टाण्डा के शासकीय वाहन के फ्रंट ग्लास को फोड़ती हुई थाना प्रभारी टाण्डा के सीने को छुते हुवे निकली थी। जिसके बाद भी पुलिस टीम के द्वारा अपनी जान की परवाह न करते हुवे ग्राम भुतिया में दबीश देकर अगवा कर ले गए बच्चे, महिला व आदमियों को बदमाशो के चुगंल से छुड़ाया था। जिसके बाद टाण्डा पुलिस के द्वारा बदमाश भुरू की गेगं के कुख्यात ढाई लाख के ईनामी बदमाश नानकीया उर्फ राकेश पिता छिनिया जाति डावर भील, उम्र 30 वर्ष, निवासी भुतिया के थाना टाण्डा, शंकर उर्फ सकरीया पिता गुलू उर्फ गुलसिंह जाति मेहड़ा (भील), उम्र 32 वर्ष, निवासी होलीबयड़ा तिराहा, थाना टाण्डा, ग्यास उर्फ ग्यानसिह पिता मलसिह वास्केल जाति भील उम्र 30 साल निवासी ग्राम होलीबयडा पटेलपुरा, गनिया उर्फ गणू पिता भुवानसिंह जाति मेहड़ा (भील), उम्र 24 वर्ष, निवासी नाका फल्या, ग्राम भुतिया, थाना टाण्डा एवं कलमसिंह पिता इंदरसिंह जाति अम्लीयार (भील), उम्र 25 वर्ष, निवासी भुतिया, होलीबयड़ा, थाना टाण्डा को पृथक-पृथक गिरफ्तार किया था जिनकी गिरफ्तारी के दौरान भी उपरोक्त आरोपीयों द्वारा पुलिस पर जान से मारने की नियत से जानलेवा हमले किए थे फिर भी पुलिस टीम द्वारा जान की परवाह न करते हुवे उपरोक्त आरोपीयों को गिरफ्तार किया था।
*गैंग को दे रहा था सरंक्षण*
जामदा-भुतिया गेंग के अधिकतम ईनामी फरार बदमाश ग्राम भुतिया के पिपरपाड़ा फलिया में ही रहते है जिनको भुरू सरंपच का पुरा सरंक्षण प्राप्त रहता है। आरोपी भुरू का पुरा परिवार अपराधीक किस्म का है उक्त जामदा-भुतिया गेगं के कुख्यात आरोपी बोबड़ीया उर्फ बोबड़ा सरपंच भुरू का छोटा भाई था जो कि बोरडाबरा में हुई डकेती के दौरान गोली लगने के बाद ईलाज के दौरान मर गया था। आरोपी बोबड़ीया ग्राम भुतिया-होलीबयड़ा के बदमाशों का सरगना था उसके मरने के बाद से नानकिया और भुरू दोनों गेंग को चला रहे थे। नानकिया को टाण्डा पुलिस द्वारा फरवरी 2021 में मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया था।


Share To:

Post A Comment: