*झाबुआ~अवैध रूप से रेत का परिवहन कर धड़ल्ले से व्यापार कर रहे रेत माफिया*~~

*रेत माफिया राजस्व की रॉयल्टी की चोरी कर रहे खुले आम*~~

*न रायल्टी न टेक्स,रेत माफिया सिर्फ भर रहे अपना पेट*~~

*ब्युरो दशरथ सिंह कट्ठा झाबुआ...9685952025*~~

झाबुआ - मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले के मेघनगर में रेत के अवैध खनन में संलिप्त रेत माफिया तू डाल-डाल तो मैं पात-पात की कहावत चरितार्थ कर रहे हैं ओर अवैध रेत का परिवहन धड़ल्ले से कर रहे। वहीं रेत माफिया पुलिस व खनिज विभाग से बचने के लिए शहर के बीच गलियों से निकलने की फिराक में लगे रहते हैं। इतना ही नही रेत माफिया अधिकारियों की मिलीभगत का फायदा उठा कर रेत माफिया नदियों का सीना मशीनों से चीर रहे हैं ओर अवैध तरीके से रेत का परिवहन बदस्तूर जारी है ऐसा लगता हैं कि जिला प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारी यहां के रेत माफिया पर महरबान है इसी लिए रेत माफियाओं के हौसले बुलंद है  रेत माफिया वही कर रहे हैं जो उन्हें भा रहा है। रेत माफिया मेघनगर शहर व उसके आसपास के ग्रामीण क्षेत्रो में जगह जगह अवैध रेत का भंडारण कर रहे हैं।और धड़ल्ले से रेत माफिया ट्रकों व ट्रालो से परिवहन भी कर रहे हैं।

*ओवरलोड का खेल पर अधिकारी मोन*

झाबुआ जिले के मेघनगर में इन दिनों अवेध रेत परिवहन और ओवरलोडिंग का खेल चरम सीमा पर है , अवेध रेत के डम्पर समीप राज्य गुजरात से प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बनी सड़को से होकर मध्यप्रदेश में प्रवेश करते है और स्थानीय दलाल इस रेत को विक्रय करवाते है , ऐसे में अधिकारियों द्वारा कोई कार्यवाही न करना कई सवालों को खड़े कर रहा है आखिर किसकी शह के चलते रेत माफिया अपने कारोबार को ओर फैला रहे है

*न रायल्टी न टेक्स,माफिया भर रहे अपना पेट*

सूत्र बताते है कि समीप राज्य गुजरात से बिना बिल रायल्टी के ओवर लोड रेत के वाहन रात के अंधेरे में ग्रामीण इलाकों से  मध्यप्रदेश में प्रवेश करते है ओर इन वाहनों को खुफिया सड़को  पर रेत माफियाओ द्वारा खड़े कर दिए जाते है  जहा किसी की नजर न पड़े और उसके बाद इन रेत माफियाओं द्वारा इन रेत डम्परों में भरी रेत को ठिकाने लगाते है


Share To:

Post A Comment: