धार~बिजली आपूर्ति के साथ प्रत्येक बिल की वसूली भी उतनी ही जरूरी~~

मप्रपक्षेविविकं के प्रबंध निदेशक ने ली मिटिंग, स्टोर व ग्रिड का निरीक्षण~~

धार ( डाँ. अशोक शास्त्री )

बिजली की गुणवत्तापूर्ण आपूर्ति के साथ ही शासन एवं नियामक आयोग के हिसाब से जारी देयकों की शत प्रतिशत वसूली बहुत जरूरी है। राशि बकाया होने पर मुश्किलें बढ़ती है, विवाद की नौबत भी आती है। प्रत्येक बिजली कर्मचारी, अधिकारी राजस्व संग्रहण के लिए गंभीरता से प्रयास करे। उक्त निर्देश मप्र पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध निदेशक श्री अमित तोमर ने दिए। वे मंगलवार को धार स्थित बिजली कंपनी के जिला कार्यालय में अधिकारियों की मिटिंग में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि धार जिले में लाखों उपभोक्ताओं पर बिजली बिल राशि बकाया हैं, इनसे राशि वसूली जाए, जहां ज्यादा परेशानी है, वहां राशि किश्तों में ली जाए , ताकि बकाया राशि में क्रमशः कमी आ सके। उन्होंने बताया कि जारी वित्तीय वर्ष में धार जिले में करीब तेरह फीसदी बिजली पिछले वर्ष की समान अवधि के दौरान अधिक वितरित की गई है। प्रबंध निदेशक श्री तोमर ने कहा कि सर्कल द्वारा धार, राजगढ़, मनावर, कुक्षी डिविजनों से राजस्व संग्रहण, उपभोक्ता शिकायत निवारण एवं मेंटेनेंस की जानकारी प्रतिदिन ली जाए। डिविजन प्रभारी इसी तरह संबंधित बिजली वितरण केंद्रों के प्रभारियों से दैनिक प्रगति ले, जहां कमी दिखाई दे, तुरंत संझान लिया जाए।  उन्होंने गुणवत्तापूर्ण आपूर्ति, शिकायत निवारण समय पर करने के अलावा मेंटेनेंस, रिकवरी, सीआरपीयू, स्टब बढ़ाने, एफआरटी की वसूली के अलावा आगामी रबी सीजन की तैयारी के संबंध में निर्देश दिए। इस दौरान अधीक्षण यंत्री जेआर कनखरे समेत अन्य कार्यपालन यंत्री, सहायक यंत्री, कनिष्ठ यंत्री प्रमुख रूप से मौजूद थे। प्रबंध निदेशक ने धार के स्टोर कार्यालय एवं जेतपुरा स्थित बिजली ग्रिड का भी निरीक्षण किया।

कलेक्टर से की मुलाकात
धार दौरे के दौरान मप्रपक्षेविविकं के प्रबंध निदेशक श्री अमित तोमर से कलेक्टर श्री आलोक सिंह ने भी मुलाकात की। इस दौरान बिजली वितरण, उपभोक्ता शिकायत निवारण समेत अन्य विषयों पर चर्चा की गई।


Share To:

Post A Comment: