अलीराजपुर~सिद्धेश्वर हनुमान मंदिर में दिनभर चला बाबा हनुमान की भक्ति का दौर~

परीसर में किया गया पौधारोपण,
भगवान हनुमान को चढ़ाया 108 बार चोला, हुआ हनुमान चालीसा का पाठ~

मनीष अरोडा अलीराजपुर~

अलीराजपुर :  मंगलवार को सिद्धेश्वर हनुमान मंदिर राजवाड़ा में प्रतिवर्षानुसार भगवान हनुमान को 108 सामुहिक चोला श्रृंगार का आयोजन किया गया। यह आयोजन बजरंग भक्त मंडल राजवाड़ा के सानिध्य में किया गया। जिसमें अलीराजपुर सहित आसपास के इलाके से बड़ी संख्या में हनुमान भक्तों ने पहुंचकर लाभ लिया। कार्यक्रम के चलते मंदिर में सुबह से ही भक्तों की भीड़ नजर आर्ई। यह कार्यक्रम  शाम तक चलता रहा। इस अवसर पर मंदिर परीसर में पौधा रोपण भी किया गया। यह पौधा रोपण अगाल परिवार की और से अपने परिजनों की स्मृती में किया गया।

आरती होने के बाद प्रसादी का वितरण किया।

भगवान हनुमान का चोला श्रृंगार सुबह 9 बजे से प्रारंभ हुआ। इसके पूर्व मंदिर के पुजारी श्री विठठलदास शर्मा व डॉ. हरेकृष्ण शर्मा ने बाबा हनुमान की प्रतिमा पर दीप प्रज्वलीत कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया । श्रृंगार के दौरान भक्तों ने हनुमान जी की प्रतिमा पर तेल सिंदूर का लेप किया। बारी-बारी से भक्तों ने प्रत्येक श्रृंगार पर  लडडू,  केला,  नारियल व  तेल का दीपक लगाकर इस पूण्य कार्य का लाभ उठाया। इस अवसर पर सिद्धेश्वर हनुमान भक्त मंडल के सदस्यो द्वारा हनुमान चालीसा का पाठ किया गया। कार्यक्रम के चलते हनुमान भक्तों में काफी उत्साह था। चोला श्रृंगार होने के बाद भगवान का मनमोहक श्रृंगार किया गया। इस दौरान शिखर पर ध्वजरोहण भी हुआ। आरती होने के बाद प्रसादी का वितरण किया गया।

जीवन मे कम से कम एक पेड़ सभी को लगाना चाहिए।

चोला कार्यक्रम के दौरान दोपहर १ बजे मंदिर परीसर में मन्नालाल अगाल,गोमती बाई अगाल व राधेश्याम अगाल की स्मृती में अगाल परिवार की और से कुल 7 पौधो का रोपण किया गया। इस दौरान समिति सदस्यों व बजरंग भक्तों के सदस्य भी मौजुद थे। अगाल परिवार के द्वारा लगाए गए पौधों में बिल्व पत्र,लाल चंपा,कदम,मधु कामनी के पौधे लगाए गए। पौधा रोपण कार्यक्रम मे सुशीला अगाल, विपिन मुंदडा,रजनी मुंदडा,मनीष अगाल,गोपेश मुंदडा, आशीष अगाल,संतोष थेपडिया,कृष्णकांत सोमानी,हितेंन्द्र शर्मा,मनोज शर्मा,भानु बाहेती,महेंन्द्र टवली,महेश बेडीया, राघव सर्राफ सहित बड़ी संख्या में भक्तगण मौजुद थे। इस दौरान सुशीला अगाल ने कहा कि पेड़ जीवन की जरूतर है। हम सभी को अपने जीवन मे कम से कम एक पेड़ जरूर लगाना चाहिए ताकि हमे शुद्ध हवा मिलती रहे। वही मंदिर परिसर मे किए गए पौधा रोपण के रक्षण के लिए ट्रीगार्ड लगाए गए, साथ ही पौधों को बडा करने का संकल्प भी अगाल परिवार ने लिया।

आयोजन का यह २१ वा वर्ष

108 चोला श्रृंगार का दौर शाम 6 बजे तक चलता रहा। इसके पश्चात भगवान हनुमान की आरती उतारी गई व प्रसादी का वितरण किया गया। इस अवसर पर नगर से बड़ी संख्या में महिलाएं एवं पुरूष शामिल हुए। आरती के पश्चात श्री सिद्धेश्वर हनुमान भक्त मंडल द्वारा सुंदरकांड का आयोजन भी किया गया। जिसमें बड़ी संख्या में बजरंग भक्त उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि यह आयोजन का २१वा वर्ष है। इस मंदिर की विशेषता यह है कि यह मंदिर अति प्राचिन होने के साथ ही बाबा की चमत्कारिक प्रतिमा है, यहां पर आने वाले श्रद्धालुओं का कहना है कि बाबा से जो मन्नते मांगी जाती है बाबा उसे पूरा करते है। कार्यक्रम में पंचमुखी बालकनाथ सुन्दरकांड मंडल के सदस्यों के द्वारा हनुमान चालीसा का पाठ किया गया। उक्त कार्यक्रम की जानकारी मंदिर के मिडिया प्रभारी कांतिलाल राठौड़ ने दी।


Share To:

Post A Comment: