झाबुआ~घरेलू एलपीजी गैस सिलेंडर 25 रु.महंगा-936.50,दीवाली तक शकर 42 रुपए किलो बिकेगी,निर्यात में छूट से बढ़ोतरी~~


झाबुआसंजय जैन~~

त्योहार के पहले लोगों को महंगाई की डबल मार पड़ गई है। शकर में पिछले सात दिनों में 4 रुपए बढ़कर भाव 38.50 रुपए प्रतिकिलो हो गए है। इधर मंगलवार को घरेलू एलपीजी गैस सिलेंडर की कीमत ने भी लोगों को झटका दे दिया। एक बार में 25 रुपए की बढ़ोतरी हो गई। अब बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर 936.50 रुपए तो सब्सिडी वाला 881.69 रुपए का हो गया है। त्योहार के समय भाव बढऩे से इसका सीधा असर आम व्यक्ति के किचन पर पड़ रहा है ।






72.50 रुपए बढ़ाकर साढ़े चार रुपए कम किए....
कंपनियों द्वारा प्रतिमाह एलपीजी गैस सिलेंडरों के भावों का मूल्यांकन किया जाता है औैर महीने की एक तारीख को नए भाव जारी किए जाते हैं। कंपनियों ने व्यावसायिक गैस सिलेंडर के भाव 1 अगस्त को 72.50 रुपए प्रति सिलेंडर बढ़ा दिए थे,लेकिन 16 अगस्त को जब घरेलू गैस सिलेंडर के भावों का मूल्यांकन किया जो व्यावसायिक गैस सिलेंडर के भाव में साढ़े चार रुपए की मामूली कमी की जिससे अब 1814.50 रुपए का हो गया है।






त्योहारी मांग निकलने से भी बढ़े भाव....
किराना व्यापारी पद्मावती किराना के राजेश मेहता ने बताया कि शकर का बढ़ी मात्रा में एक्सपोर्ट होने और गन्ना किसानों का पैसा चुकाना सहित अन्य कारणों से भाव में तेजी आई है। साथ ही देश में त्योहारी ग्राहकी के कारण भी मांग बढऩे से भाव पर असर पड़़ा है। दो दिन में डेढ़ सौ रुपए की तेजी रही है। यह तेजी आगे भी जारी रहेगी।






पांच साल पहले थे सर्वाधिक 47 रुपए किलो रहे थे भाव....
शहर के शकर व्यापारियों के अनुसार जिले में पांच साल पहले शकर के सर्वाधिक 47 रुपए प्रति किलो रहे थे। इसके बाद भाव ऊपर-नीचे होने के साथ गिरावट लिए रहे। संक्रमण की पहली लहर के दौरान भी भाव 36.37 रुपए प्रतिकिलो के आस-पास थे। जबकि दूसरी लहर के दौरान तो भाव 34.35 रुपए प्रति किलो रहे थे। यह भाव इस माह 9 अगस्त रहे थे। जो अब जाकर बढ़े हैं।






दीवाली तक शकर 42 रुपए किलो बिकेगी, निर्यात में छूट से बढ़ोतरी........
शकर के भावों में आई अचानक तेजी से बाजार में असर दिखने लगा है। लंबे समय से शकर के भाव 34 से 35 रुपए प्रति किलो चल रहे थे। 1 अगस्त को 34 रुपए तो 9 अगस्त को 34.50 रुपए प्रतिकिलो शकर बिक रही थी। लेकिन पिछले 7 दिनों में लगातार भाव बढ़ते गए। 15 अगस्त को 37 रुपए तो 17 अगस्त को भाव बढ़कर 38.50 रुपए प्रतिकिलो हो गया। इसका असर फुटकर बाजार में भी देखने को मिल रहा है। फुटकर बाजार में 39 से 40 रुपए किलो शकर बिकने लगी है। शकर के भाव में आगे भी तेजी रहेगी और लोगों को दीवाली तक महंगी शकर खाना पढ़़़ेगी। भाव 42 रुपए किलो तक जा सकते है।






डेढ़ महीने में बढ़ाए घरेलू गैस के भाव-सब्सिडी भी सभी को नहीं मिल रही.......
कंपनियों द्वारा अप्रैल के बाद सीधे 1 जुलाई को भाव बढ़ाए थे। इसके बाद 1 अगस्त को भाव बढऩा थ,लेकिन भाव में फेरबदल नहीं किया और अब 17 अगस्त को 25 रुपए प्रति सिलेंडर बढ़ा दिए। अब बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर 936.50 रुपए का हो गया है। जबकि इस पर 54.81 रुपए सब्सिडी मिल रही है। ऐसे में सब्सिडी वाला सिलेंडर अब 881.69 रुपए में मिल रहा है। लोगों व गैस एजेंसियों की माने तो कई लोगों के खाते में कुछ महीने से सब्सिडी की राशि नहीं आ रही है। सब्सिडी की राशि कम होने के कारण लोगों को पता भी नहीं चल रहा है।






जनवरी 2021 से अगस्त-2021 तक के भाव व सब्सिडी......
माह                 भाव             सब्सिडी               सब्सिडी के बाद
जनवरी-21      771.00           54.81                   716.19
फरवरी-21       871.00           54.81                   816.19
मार्च-21          896.00           54.81                   841.19
अप्रैल-21        886.00           54.81                   831.19
जुलाई-21       911.50           54.81                    856.69
अगस्त-21      936.50           54.81                   881.69
नोट-जानकारी जिले की गैस एजेंसी संचालकों के अनुसार।




Share To:

Post A Comment: