धार~डेंगू के बढ़ते प्रभाव के बाद अधीकारीयो ने गतिविधियों का निरीक्षण किया 5 घरों में मिला डेंगू का लार्वा~~

धार ( डाँ.अशोक शास्त्री )

जिले में मौसमी बीमारी डेंगू के प्रकरण संज्ञान में आने पर इन्दौर से संभागीय कीट विज्ञानी  सी.एस.शर्मा एवं जिला मलेरिया अधिकारी  धर्मेन्द्र जैन, जिला मलेरिया सलाहकार आर. कटारे द्वारा विकासखण्ड सरदारपुर के ग्राम सुल्तानपुर, आतेड़ी का  भ्रमण कर पूर्व में पाये गये डेंगू मरीज का फॅालोअप कर  डेंगू नियंत्रण की गतिविधियों का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान घरो के अंदर व आस-पास जल भराव के अलावा पानी के कन्टेनरों का निरीक्षण किया। इस दौरान 5 घरों में डेंगू मच्छर के लार्वा पाये गये, जिन्हे खाली करवाया गया।  बताया गया कि बारीश में घरों की छतो पर रखे टायर, कबाड़ा, गमलो में पानी भरा होने से डेंगू मच्छरों के लार्वा पनपता है। लोगो को समझाईष देकर डेंगू के प्रति जागरूकता के साथ अपने घरों में रखे पानी के कंटेनरो को प्रति सप्ताह साफ करने व पानी की टंकीयो को ढक कर रखने के निर्देष दिये गये। निरीक्षण के दौरान सेक्टर सुपरवाईजर, ए.एन.एम, एम.पी.डब्ल्यू, एवं ग्राम की आषा कार्यकर्ता उपस्थित थे।
       इस दौरान आम जनता से अपील की  है कि डेेंगू के बचाव हेतु तत्काल निम्न कार्य किया जावे। छत एवं घर के आस-पास अनुपयोगी सामग्री में बारिष का पानी जमा न होने दे।
इनमें डेंगू फैलाने वाले एडिज मच्छर पैदा होते है। सप्ताह में एक बार अपनी टंकी, कंटेनर, बाल्टी, कूलर्स आदि का पानी खाली कर दे। दोबार पानी भरने से पहले उन्हें अच्छी तरह सुखाए।
पानी के बर्तन, टंकियों आदि का ढककर रखें, हैण्डपंप के आस-पास पानी एकत्र न होने दे। घर के आस-पास के गड्डों को मिट्टी से भर दें।
पनी भरे रहने वाले स्थानों पर मिट्टी का तेल या जला हुआ इंजन का तेल डालें।
मच्छर आमतौर पर घर के अंदर एवं घर के बाहर अंधेरे एवं नमीयुक्त जगह बर्तन पर घरों में अलमारी में जहॉ कपड़े लटके रहते है पर्दो के पिछे, फर्नीचर के नीचे लटके हुए वायर, रस्सी आदि पर छिप कर बैठते है। अतः नियमित अपने घरों की साफ-सफाई की जावे। सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें। शाम को नीम की पत्तियों का धुॅआ करे तथा पूरी बांह क कपड़े पहने। बुखार आने पर अपने नजदीकी शासकीय चिकित्सालय में खून की जॉंच करवाये।


Share To:

Post A Comment: