बाकानेर~आदिवासी युवक ढोल मांडल के साथ वेशभूषा में थिरके 9अगस्त विश्व आदिवासी दिवस ~~

सैयद अखलाक अली बाकानेर~~

बाकानेर ~नगर में बड़ी धूमधाम से मनाया गया जिसमें आदिवासी विकास परिषद के जिला उपाध्यक्ष मलखान पटेल  के नेतृत्व में हजारों की संख्या में आदिवासी वेशभूषा के साथ तीर कमान फालिए एवं गोफन आदिवासी सांस्कृतिक के साथ विभिन्न रंग में आदिवासी युवा ढोल मांडल के साथ थिरके आदिवासी विकास परिषद के जिला उपाध्यक्ष मलखान पटेल  ने कहां आदिवासी समाज के साथ प्रदेश सरकार कहीं न कहीं सौतेला व्यवहार कर रही है तथा  आदिवासी समाज के जीतू वास्कले बताया कि 9 अगस्त विश्व आदिवासी दिवस सन 1994 से मनाया जा रहा है जिसमें आदिवासी समाज जल जंगल जमीन तथा आदिवासी के सांस्कृतिक आर्थिक तथा न्यायिक सुरक्षा हेतु संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा विश्व आदिवासी दिवस की स्थापना की गई थी इसमें वाकानेर क्षेत्र के आदिवासी समाज के कहीं युवा एकत्रित हुए जिसमें बज्जत, भूवादा, खरगोन, बाकानेर, लोनी, कुवाद, बंजारी ,आमासी पड़ला, उम रबन,  सरस गांव, झिर्वी, कल्याणपुरा, रंगाव, थन गांव, पटवार समजीपुरा, लिंबी, झेतापुर, बगल्या,  दाभ ड , जमन्या, कुवड़ ,  भानपुरा ,  मोद, बगाड़ी, सालेपुर खेड़ी,  टवलाई आसपास क्षेत्र से कहीं युवा एकत्रित हुए थे जिसमे निरजन डावर, अरुण गर्ग, मुकेश टेंट वाले, केशव वास्केल, अजय आखाड़े, सुलेमान बाबा, भगवान आलावा , विकाश रावत, अजय आलावा, देवेन्द्र अलावा, मनसाराम वास्केल, किशन नर्गेश, चंपालाल चौहान,सरदार कणेल, गलसिंह, अजय सोलंकी, जितेन्द्र सिंह, सावन आलावा, हरीश वास्केल, मोहन कानेल,सुनील , गोलू वास्केल, नासिर आलावा, बालू चौहान, विकाश रावत ,  का संचालन रोहित आदिवासी ने किया एवं आभार व्यक्त जीतू वास्कले पटवार वाले ने किया


Share To:

Post A Comment: