सीहोर~ जिले की समस्त तहसीलों  में बिना टैक्सी परमिट से चल रही है सैकड़ों की तादाद में प्राइवेट गाड़ीया ~

जिससे आरटीओ विभाग को प्रति वर्ष लग रहा है लाखों रुपए का चूना इसकी जानकारी विभाग के अधिकारियों को होने के बाद भी नहीं करते कोई कार्रवाई~~

नसरुल्लागंज से आनंद अग्रवाल जिला ब्यूरो की रिपोर्ट~~


सीहोर जिले की सभी सातों तहसील में बिना टैक्सी परमिट से दौड़ रही हैं प्राइवेट गाड़ी इसमें आपको सभी प्रकार की  गाड़ियां  उपलब्ध हो जाएगी लेकिन इनमें से किसी भी गाड़ी मालिकों के पास  टैक्सी परमिट नहीं है यह बिना टैक्सी परमिट से ही अपनी गाड़ियां टैक्सी में चला रहे हैं जिससे आरटीओ विभाग को प्रति वर्ष टैक्स के रूप में लग रहा है लाखों रुपए का घाटा   इसकी जानकारी समस्त आरटीओ विभाग के अधिकारियों को होने के बाद भी नहीं करते कोई कार्यवाही इसलिए प्राइवेट गाड़ी वाले अपने हिसाब से चला रहे हैं अपनी गाड़ियां टैक्सी में अगर आरटीओ विभाग इन पर टैक्स लग कर वसूली करी जाए तो आईटीओ विभाग को करोड़ों रुपए का टैक्स मिल सकता है अगर अधिकारी चाहे तो लेकिन अधिकारी को जानकारी होने के बाद ही नहीं कर रहा है कोई कार्रवाई देखना है कि अपनी कार्रवाई होती है या नहीं


Share To:

Post A Comment: