धार~राष्ट्रीय खेल दिवस बैडमिंटन स्पर्धा मे
अवध बिल्लौरे को दोहरी सफलता~~

धार~( डाँ. अशोक शास्त्री )

करोना संक्रमण के चलते देश भर में विगत दो वर्षों से राज्य/राष्ट्रीय बैडमिंटन स्पर्धाओ के आयोजन बंद होने के कारण शटलरो में स्पर्धात्मक भावना बनाये रखने के उद्देश्य से राजा देवीसिंह बैडमिंटन हाल पर धार लिटिल शटलर वेलफेयर सोसायटी द्वारा खेल और युवा कल्याण विभाग के निदेशन में खेल दिवस पर ग्रुप स्तरीय बैडमिंटन स्पर्धा का आयोजन  संस्था जय हो धार द्वारा  किया गया. . स्पर्धा में 7 वर्षआयु वर्ग से 14 वर्ष आयु वर्ग के शटलरो के मध्य एकल एवं युगल वर्ग के मुकाबले खेले गए जिसमें लगभग 40 शटलरो ने भाग लिया . जिसमें नन्हे नन्हे प्रतिभाशाली शटलरो ने अपने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए अपने खेल कौशल एवं कलात्मक तकनीक से सभी को प्रभावित किया. स्पर्धा के एकल वर्ग के सेमीफाइनल मुकाबले में  पार्थ भट्ट ने नेवैध पाण्डेय  को अवध बिल्लौरे ने अभिन्न गर्ग  को  तथा यूगल वर्ग के सेमीफाइनल मुकाबले में नैवेद्य पाण्डेय एवं हर्षित ठाकुर की जोड़ी ने अभिन्न गर्ग एवं सुयश गर्ग की जोड़ी को तथा  अवध बिल्लौरे एवं व्योम चौधरी की जोड़ी ने पार्थ भट्ट एवं अक्षरा निककम की जोड़ी को पराजित कर फ़ाइनल में जगह बनाई.   सेमीफाइनलिस्ट शटलरो से लेफ्टिनेंट कमांडर श्री अमित शर्मा एमबीबीएस पेथोलाजी मुम्बई भूतपूर्व चिकित्सक भारतीय नौसेना ने परिचय प्राप्त कर शटलरो को खेलते हुए कैसे फिट रहे . सीख दी .स्पर्धा के एकल वर्ग के  फाइनल मुकाबले मेंअवध बिल्लौरे ने पार्थ भट्ट को 15-11,15-11 से पराजित कर विजेता बने एवं युगल वर्ग के फाइनल मुकाबले में अवध बिल्लौरे एवं व्योम चौधरी की जोड़ी ने नैवेद्य पाण्डेय एवं हर्षित ठाकुर की जोड़ी को 21-19,21-11 से पराजित कर दोहरी सफलता अर्जित की .स्पर्धा के विजेता एवं उप विजेता शटलरो को से डाँ. अशोक शास्त्री वरिष्ठ पत्रकार , समाजसेवी डाँ. अशोक शास्त्री, श्री नवीन गर्ग अध्यक्ष संस्था जय हो, श्री शरदचंद्र निगम अध्यक्ष लिटिल शटलर ग्रुप ने नगद राशि एवं स्पर्धा में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों को संस्था जय हो धार की और से  टी शर्ट प्रदान की गई.इस अवसर पर शटलरो सहित उनके पालकगण गोकुल सिंह गोहिल,अजय पवार,अखलेश शर्माजी,विजय चौधरी, राजेश वसुधरिया, ऋषि भार्गव, लक्की अरोरा,जे पी यादव डॉ आशुतोष उपाध्याय, महेश अहिरवार रेंजर, एम एल लश्करी, आदि उपस्थित थे कार्यक्रम का संचालन सुधीर वर्मा बैडमिंटन प्रशिक्षक तथा आभार राजेश निकटम ने माना.


Share To:

Post A Comment: