धार~हमारा भारत खेल प्रतिभाओं की खदान है, ~~

इसीलिए शासन की मंशानुसार ’’टेलेन्ट सर्च’’ के माध्यम से खेल प्रतिभाओं को उकेरने की महती योजना अस्तित्व में आई~~

धार ( डाँ. अशोक शास्त्री )

हमारा भारत खेल प्रतिभाओं की खदान है, इसीलिए शासन की मंशानुसार ’’टेलेन्ट सर्च’’ के माध्यम से खेल प्रतिभाओं को उकेरने की महती योजना अस्तित्व में आई है। हमारे खेल नायकों ने ओलंपिक मेडल्स के माध्यम से वैश्विक खेल पटल पर सुनहरी इबारत लिखी है। जिसे अब ऐतिहासिक दस्तावेज का रूप नयी खेल प्रतिभाएं अब ऐतिहासिक स्वरूप प्रदान करेंगी। उक्त विचार पुलिस अधीक्षक आदित्यप्रताप सिंह ने संचालनालय खेल और युवा कल्याण, जनजातीय कार्य, शिक्षा विभाग के समन्वय से आयोजित विकासखण्ड स्तरीय ’’टेलेन्ट सर्च’’ प्रारंभिक प्रक्रिया व युवा दिवस 2021 के अवसर पर खिलाड़ियों के बीच एसपीडीए. सेन्टर खेल परिसर पर गुरूवार को व्यक्त किये। उन्होंनेे कहा कि 7 मेडल्स को 70 में बदलने के  ताकत वाले आप ही के बीच बैंठे है और इसी उर्जा को प्रोत्साहन दिया जा रहा है। इतिहास से पढ़कर षिक्षा ली जाती है पर निर्णय वर्तमान परिस्थितियों को सोचकर और भविष्य पर चिन्तन के आधार पर लिया जाता है। अपनी सोच को आविष्कारी स्वरूप देकर दुनिया के सामने उदाहरण बनें। श्री सिंह ने संस्मरण साझा करते हुए बताया कि खेल उनके लिए जुनून था। युवा दिवस के तारतम्य मे पुलिस अधीक्षक ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ के आव्हान पर इस बार की थीम ’’ट्रॉस्फॉर्मिग फूट सिस्टमः यूथ इनोवेशन फॉर ह्मूमन एंड प्लेनटरी हेल्थ रखी गयी है और युवाओं के कृतित्व को मुख्यधारा में लाकर उनकी शक्ति का सकारात्मक उपयोग कैसे किया जाए कि अन्य भी प्रेरित हो कर सामाजिक उत्थान में योगदान दे सकें। वसुधैव कुटुम्बकम और सर्वभवन्तु सुखिनः सर्वे सन्त निरामय की थीम पर हम निष्चय ही खाद्य प्रणालियों के परिवर्तन में जैव विविधता को एकीकृत करने में सफल होंगे।
खेल और युवा कल्याण अधिकारी हेमन्त सुवीर ने कहा कि सफलता की पहली पायदान लक्ष्य के प्रति समर्पण है और शासन खेल प्रतिभाओं के उत्थान हेतु प्रतिबद्ध होकर आदर्श मंच प्रस्तुत का रहा है। युवाओं के प्ररिप्रेक्ष्य में आपने कहा कि हमें ज्यादा उपज या उपशे सामग्री की पैदावार के साथ-साथ अन्त्योदय स्वास्थ्य सामाजिक समावेशन, जलवायु परिवर्तन जैवविवधता संरक्षरण जैसी चुनौतियों में भी युवाओं को जिम्मेदारी वहन करनी होगी। टेलेन्ट सर्च चयन प्रक्रिया मे लगभग तीन सौ बालक-बालिकाओं ने बीएमआई, पुषअप, सिटअप्स/सिट एंड रीच, 50मी स्प्रिन्ट, 600 मी रन के माध्यम से टेस्ट दिए। इस अवसर पर पूनम आजाद अग्निहोत्री (एथ0), प्रदीप शी (क्रिकेट), शेरसिह यादव एथलेटिक्स, शालिनी मिश्रा कराते, मनीष सोलंकी  हॉकी, गगन सिंह ताइक्वांडो, प्रदीप आजाद कराते, विजय व्यास पीटीआई आदिम जाति कल्याण विभाग, अनिरूद्ध चावड़ा युवा समन्वयक, मनीष सोनी, युवा समन्वयक, भावना विचारे ,किरण पंवार, शीला सक्सेना, सुमित एथलेटिक्स आदि उपस्थित थें।


Share To:

Post A Comment: