नसरुल्लागंज ~तहसील के ग्राम पांडेगांव पर सीप नदी पर बना वाऀक्स ब्रिज पूर्ण रूप से सुरक्षित है ब्रिज के दोनों साइड का एप्रोच रोड होता है जो एक साइड से कुछ बैठ गया है ~~

इस एप्रोच रोड को तैयार करने के लिए 28 दिन का समय लगता है ~~

लेकिन आम जनता की परेशानी एवं पार्टी का प्रेशर होने के कारण  21 दिन पहले ही उस ताजा भर्ती के ऊपर आरसीसी रोड निर्माण करना पड़ा था ~~

उस समय की जल्दबाजी का खामियाजा आज गड्ढे के रूप में दिख रहा है~~

नसरुल्लागंज से जिला ब्यूरो आनंद अग्रवाल की रिपोर्ट~~

नसरुल्लागंज तहसील के ग्रामपांडे गांव के पास बाक्स ब्रिज का निर्माण किया गया है लेकिन कुछ दिनों से उस ब्रिज के ऊपर कई प्रकार की अफवाहें फैला जा रही हैं जो सरासर झूठी है जिसकी जानकारी मध्य प्रदेश ब्रिज कॉरपोरेशन के अधिकारी द्वारा जानकारी मिली है कि बृज पूर्ण रूप से ठीक है बृज में किसी प्रकार की भी क्षति नहीं है ब्रिज के दोनों साइड जो भर्ती भरी जाती है एंब्रोस रोड कहते हैं  उसे 28 दिन कि अभी दी होती है उसके बाद ही उसके ऊपर  आरसीसी रोड का निर्माण होता है वह इसलिए की रोड के दोनों साइड भारी भारती पूर्ण रूप से सेट हो जाए उसके बाद ही उसके ऊपर आरसीसी रोड निर्माण किया जाता है लेकिन आम जनता की परेशानी समस्त पार्टी का प्रेशर के कारण मात्र 7  दिन हुए भर्ती के ऊपर रोड निर्माण करना पड़ा था जिसका खामियाजा जनता को उठाना पड़ रहा है  एवं ठेकेदार को भी इस चीज के लिए प्रताड़ित किया जा रहा है सच तो यह बात है थी इस पुल को उद्घाटन करने के लिए पार्टियों के नेतागण बिना कुछ बताए उद्घाटन कर रहे थे इसीलिए मध्यप्रदेश में स्थापित  भारतीय जनता पार्टी द्वारा इस ब्रिज का  उद्घाटन समय सीमा से पहले ही करना उचित समझा इसलिए जिस सड़क को 28 दिन के बाद बनाना था उसे 21 दिन पहले उस रोड निर्माण करना दीया जिसका खामियाजा आज आम जनता उठा रही है अपनी नेतागिरी की बाबई में आज जनता परेशान है


Share To:

Post A Comment: