धार~ब्रिजस्टोन कंपनी के टायरों से भरा कंटेनर चोरी के मामले का पुलिस ने किया खुलासा ~~

उत्तरप्रदेश व महाराष्ट्र के कुल तीन आरोपी गिरफ्तार
पुलिस ने मध्यप्रदेश से लेकर हैदराबाद व तेलंगाना तक की बदमाशों की तलाश ~~

धार ( डाँ. अशोक शास्त्री )

एशिया की सबसे बडी टायर बनाने वाली ब्रिजस्टोन कंपनी के कंटेनर चोरी के मामले में पीथमपुर पुलिस को बड़ी सफलता मिली हैं, मामले में मुख्य षड़ंयत्रकारी उत्तरप्रदेश के रहने वाले आरोपी को पुलिस टीम ने महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया है। हालांकि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम को काफी मशक्कत का सामना करना पड़ा, पुलिस टीम ने 20 दिनों तक महाराष्ट्र के अलग-अलग क्षेत्रों में दबिश दी व महाराष्ट्र पुलिस कुछ समझ पाती, उसके पहले ही पीथमपुर पुलिस ने मुख्य आरोपी जिशान पिता इस्तेया· को गिरफ्तार किया व पूछताछ के लिए पीथमपुर लेकर आई। जिसने लाखों की चोरी करने की बात कबूल की व अपने साथियों के नाम भी बताए। पुलिस ने पूरे  मामले में कुल पांच लोगों को आरोपी बनाया हैं, जिसमें से अंर्तराज्यीय तीन शातिर बदमाशों को पकड़ा है। इनके पास से 35 लाख रुपए कीमत के टायर भी ब्रिजस्टोन कंपनी के जप्त किए गए है।
पूरे मामले की जानकारी सोमवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने दी। इस दौरान एसपी श्री सिंह ने बताया कि 26 जुलाई को पीथमपुर में स्थित ब्रिजस्टोन कंपनी का टायरों से भरा हुआ कंटेनर क्रमांक एमपी-09 एचएच- 5563 पुणे महाराष्ट्र के लिए रवाना हुआ था। कंटेनर में 1013 टायर रखे हुए थे, जिसकी कीमत करीब 45 लाख रुपए हैं, तय समय पर कंटेनर पुणे नहीं पहुंचने पर मनोज पिता प्रतापसिंह की रिपोर्ट पर पीथमपुर पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया व मामले की जांच के लिए एक टीम गठित की गई। टीम मुखिबर तंत्र की सूचना के बाद महाराष्ट्र पहुंची तो सोलापुर-तेलंगाना की बॉर्डर पर उक्त कंटेनर खाली पुलिस ने जप्त किया व क्षेत्र में कंटेनर के बारे में पूछताछ की तो कोई महत्वपूर्ण जानकारी नहीं मिली, ऐसे में टीम ने महाराष्ट्र में ही डेरा डाला व लगातार पूछताछ करते हुए सर्चिंग जारी रखी।
कोपरगांव के तनवीर को टायर बेचने की बनाई योजना
एसपी श्री सिंह ने बताया कि आजमगढ़ उत्तरप्रदेश के जिशान खान का महाराष्ट्र में होने की सूचना मिली तो पुलिस टीम ने जिशान को भिवंडी मुंबई से गिरफ्तार किया, जिसने चोरी के मामले की जानकारी दी। जिशान ने पूछताछ में बताया कि पूर्व में भी जाति ट्रांसपोर्ट के कंटेनर को लेकर महाराष्ट्र आया था, जिसमें लाखों का सामान भरा हुआ थ। इस बात की जानकारी थी, तभी चोरी करने का प्लान तैयार किया व अपने दो दोस्त राशिद व माजिद को शामिल किया, जिसमें से राशिद को ट्रांसपोर्ट कंपनी में नौकरी के लिए भेजा व कंटेनर को लेकर राशिद अपने भाई माजिद के साथ पुणे निकला तो रास्ते में जिशान भी कंटेनर में बैठा व चोरी का माल कोपरगांव के तनवीर को बेचने की योजना बनाई गई। जिसके बाद तनवीर ने 691 टायर करीब 6 लाख 91 हजार रुपए में खरीदे, जिसे भी पुलिस ने किए है। श्री सोनी ने बताया कि मुख्य आरोपी जिशान पूर्व में वर्ष 2015 में 16 करोड़ रुपए कीमत के सोने की डकैती में भी शामिल रहा है।
तीन दिन तक हाईवे पर की रैकी
टीआई श्री सोनी ने बताया कि तनवीर ने 150 टायरों का सौदा सोहेल निवासी जिला अहदनगर से किया था, ऐेसे में टीम ने कोपरगांव में तीन दिन तक रैकी की व तनवीर रंगरेज को हाईवे से व सोहेल को धुलिया महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया गया। इस तरह पुलिस ने कुल 702 टायर कीमत 35 लाख रुपए के जप्त किए हैं, तथा शेष टायर राशिद व माजिद लेकर गए थे। जांच को प्रभावित करने के लिए आरोपी कंटेनर को तेलंगाना बार्डर पर छोड़कर भी गए थे, जिसके कारण पुलिस टीम तेलंगाना तक पहुंची थी। पूरी जांच के दौरान पुलिस टीम मध्यप्रदेश से लेकर महाराष्ट्र, तेलंगाना व हैदराबाद तक पहुंची, इस मामल के लिए पुलिस ने चार प्रदेशों तक बदमाशों की तलाश की है। मामले में दो आरोपी अभी शेष है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए बनाई गई टीम में श्री सोनी के साथ सउनि शैलेंद्रसिंह बुंदेला, प्रआर अभिषेक जाधव, आरक्षक करन कौशल, आरक्षक जितेंद्र व प्रशांत की महत्वपूर्ण भूमिका रही।


Share To:

Post A Comment: