सीहोर ~कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने डेंगू नियंत्रण एवं उसकी रोकथाम के लिए डयूटी लगाने के दिए निर्देंश जिससे डेंगू बीमारी पर जल्द से जल्द बचा जा सके~~

नसरुल्लागंज से आनंद अग्रवाल जिला ब्यूरो की रिपोर्ट~~

कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सीहोर, मुख्य नगरपालिक अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास, समस्त अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व), को विभागीय अमले को डेंगू नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए डयूटी लगाने के निर्देंश दिए।

वर्तमान में जिले में डेंगू प्रकरणों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है जोकि चिन्ताजनक है। समुदाय से डेंगू के प्रसार को रोकने हेतु जन सामान्य को जागरूक किया जाना अति आवश्यक है ताकि डेंगू नियंत्रण समय-सीमा में किया जा सके।

इन बातों का रखे विशेष ध्यान

मलेरिया, डेंगू, चिकुनगुनिया फैलाने वाले मच्छर रुके हुए साफ पानी में अंडे देते हैं इसलिए घर के आसपास तथा कंटेनरों में पानी 5-7 दिन से ज्यादा जमा ना होने दे कुलर तथा पानी के बड़े बर्तनों की सप्ताह में एक बार सफाई अवश्य करें। छत पर एवं घर के पीछे रखे अनुपउयोगी सामान टूटे बर्तन मटके खुली टंकियाँ, बेकार फेके, हुए टायर गमले इत्यादि में बारिश का पानी जमा न होने दे। पानी से भरे कंटेनरों को ढक्कर रखे ताकि मच्छर उसमें अंडे न दे सके। सोते समय मच्छरदानी लगाए। पूरी बाहे के कपड़े पहने। खिड़की दरवाजों में मच्छररोधी जाली लगाए। बुखार आने पर मलेरिया, डेंगू चिकुनगुनिया की निःशुल्क जाँच शासकीय अस्पताल में कराएं। मलेरिया होने पर पूर्ण उपचार लें।घर स्कूल कार्यालय, अस्पताल परिसर को स्वच्छ रखे एवं स्वस्थ रहे।

शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों-वाडों में डेंगू पाजिटीब मरीज के क्षेत्र में पूरे गाँव वार्ड में लार्वा सर्वे कराना एवं लार्वा विनिष्टीकरण की कार्यवाही लार्वा इंडेक्स शून्य आने तक नियमित रूप से करना। संबंधित स्वास्थ्य केन्द्र के सभी ग्रामों में भी यह गतिविधि सुनिश्चित कराना। लार्वा विनिष्टीकरण हेतु अनुपयोगी पानी में टेमोफॉस, मलेरियल आइल, जला हुआ इंजिन आइल, केरोसिन, खाने का तेल डाला जा सकता है। नगरपालिका विभाग प्रत्येक वार्ड में नालियों की साफ-सफाई के साथ ही लार्वा विनिष्टीकरण, फॉगिंग एवं कचरा गाड़ी के माध्यम से डेंगू बीमारी से जागरूकता हेतु प्रत्येक वार्ड में ऑडियो, संदेश प्रचारित प्रसारित करें ही साथ डोर-टू-डोर सर्वे सुनिश्चित करायें। प्रत्येक ग्राम में साफ-सफाई एवं लाब विनिष्टीकरण की कार्यवाही सुनिश्चित करें डेंगू से बचाय एवं रोकथाम हेतु समुदाय का समझाईश दी जाये। महिला एवं बाल विकास विभाग की आगंनवाडी कार्यकर्ता एवं सहायिका आशा के साथ टीम के रूप में कार्य करते हुये डेंगू से बचाव एवं रोकथाम हेतु समुदाय को समझाई


Share To:

Post A Comment: