राजोद~संघ संगठन और महंत के सानिध्य में भारत माता के वीर महापुरुषों का संस्था आज़ादहिन्द ने करवाया यशगान~~

पवन वीर राजोद 9993688124~~

जब तक प्राण तन में है तेरा यशगान गाएंगे.....
राजोद~ संघ संगठन और महंत के सानिध्य में संस्था आज़ाद ए हिन्द राजोद ने विगत रात्रि नगर के विश्वेश्वरी प्रांगण में भारत माता के वीर पुरुषों के यशगान कार्यक्रम का आयोजन किया। जिसमें ख्यातनाम कवियों ने शिकत कर भारत माता की धरती पर जन्मे राष्ट्र नायकों व महापुरुषों का यशगान किया। कार्यक्रम में सामाजिक राजनैतिक एवं धार्मिक हस्तियों के साथ साथ पत्रकारों का भी सम्मान किया गया।
यशगान कार्यक्रम में अतिथि के रूप में रामबोला आश्रम के महंत गणपतदास, अजजा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष कलसिंह भाभर, संसाद रतलाम झाबुआ गुमानसिंह डामोर, अशोक जैन धार, आरएसएस विभाग कार्यवाह ललित कोठारी, जिला कार्यवाह बाबूलाल हामड़, बजरंग दल विभाग संयोजक लाखनसिंह जादौन, मनोज सोमानी, जय सूर्या, वैलसिंह भूरिया, नरेश राजपुरोहित, अखिलेश यादव, मदन चोयल, गिरधारी चौधरी, कमल डामोर एवं शाहिद समरसता मिशन के संस्थापक मोहन नारायण गिरी उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरुआत अतिथियों द्वारा भारत माता के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलित कर की गई।
कार्यक्रम के मुख्य वक्ता नारायण मोहन गिरी ने जनजाती राष्ट्र नायकों का यशगान किया। इस दरमियान संस्था आज़ाद ए हिन्द के दीपक फेमस व सदस्यों द्वारा राजोद नगर की शान राष्ट्रीय कवि जानी बैरागी का नागरिक अभिनंन्दन किया गया पश्चात नगर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ ओपी परमार, थाना प्रभारी भंवरसिंह वसुनिया एवं पत्रकार बंधुओं को प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। कार्यक्रम में काव्य पाठ की शुरुआत कवियित्री सुमित्रा सरल ने मां शारदा की वंदना से किया। नरेंद्र अटल ने महापुरुषों के लिए "जब तक प्राण तन में है तेरा यशगान गाएंगे" से शमां बांध दिया। गीतकार पुष्पेंद्र पुष्प के प्रेम गीत व राम भदावर के ओजस्वी काव्य पाठ ने युवाओं में ऊर्जा का संचार भरने का कार्य किया। कवि सम्मेलन के ऊंचाइयों पर पहुंचने के बाद मालवा के रजनीकांत व राजोद की शान राष्ट्रीय कवि जानी बैरागी ने मंच से जो काव्य पाठ किया तो यह कवि सम्मेलन यादगार सार्थकता की ओर चल पड़ा। बड़ी संख्यां में ग्रामीणों ने देर रात तक कवि सम्मेलन का आनंद उठाया। आज़ाद ए हिन्द ने कार्यक्रम में पधारे सभी का आभार व्यक्त किया।


Share To:

Post A Comment: