*धनतेरस पर ये एक चीज खरीदना बेहद शुभ , घर आते ही कर देगी मालामाल साथ कौन सी चीजे खरीदने से हो सकता है नुकसान* *( डाँ.अशोक शास्त्री )*~~

          मालवा के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य डाँ.अशोक शास्त्री ने एक विशेष मुलाकात मे बताया कि     2 नवंबर को धनतेरस का त्योहार मनाया जाएगा । धनत्रयोदशी के दिन भगवान धनवंतरी जन्म हुआ था और इसीलिए इस दिन को धनतेरस के रूप में पूजा जाता है । दीपावली के दो दिन पहले आने वाले इस त्योहार को लोग काफी धूमधाम से मनाते हैं । इस दिन गहनों और बर्तन की खरीदारी जरूर की जाती है ।
          ज्योतिषाचार्य डाँ.अशोक शास्त्री के अनुसार समुद्र मंथन के दौरान त्रयो‍दशी के दिन भगवान धनवंतरी प्रकट हुए थे , इसलिए इस दिन को धन त्रयोदशी कहा जाता है । धन और वैभव देने वाली इस त्रयोदशी का विशेष महत्व माना गया है । कहा जाता है कि समुद्र मंथन के समय बहुत ही दुर्लभ और कीमती वस्तुओं के अलावा शरद पूर्णिमा का चंद्रमा , कार्तिक द्वादशी के दिन कामधेनु गाय , त्रयोदशी को धनवंतरी और कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को भगवती लक्ष्मी जी का समुद्र से अवतरण हुआ था । यही कारण है कि दीपावली के दिन लक्ष्मी पूजन और उसके दो दिन पहले त्रयोदशी को भगवान धनवंतरी का जन्म दिवस धनतेरस के रूप में मनाया जाता है ।
          डाँ.अशोक शास्त्री के अनुसार भगवान धनवंतरी को प्रिय है पीतल - भगवान धनवंतरी को नारायण भगवान विष्णु का ही एक रूप माना जाता है । इनकी चार भुजाएं हैं , जिनमें से दो भुजाओं में वे शंख और चक्र धारण किए हुए हैं । दूसरी दो भुजाओं में औषधि के साथ वे अमृत कलश लिए हुए हैं । ऐसा माना जाता है कि यह अमृत कलश पीतल का बना हुआ है क्योंकि पीतल भगवान धनवंतरी की प्रिय धातु है । मान्यता है कि इस दिन खरीदी गई कोई भी वस्तु शुभ फल प्रदान करती है और लंबे समय तक चलती है । लेकिन अगर भगवान की प्रिय वस्तु पीतल की खरीदारी की जाए तो इसका तेरह गुना अधिक लाभ मिलता है ।
          डाँ.अशोक शास्त्री ने बताया की धनतेरस पर भूलकर भी घर ना लाएं ये 10 चीजें , लोहे - स्टील के बर्तन की भी खरीदारी अशुभ
क्या धनतेरस पर सोने - चांदी की चीजें , बर्तन , झाड़ू और धनिया खरीदना बहुत शुभ माना जाता है । लेकिन क्या आप जानते हैं इस दिन कुछ चीजों की खरीदारी अशुभता का प्रतीक समझी जाती हैं । धनतेरस के दिन आपको कौन सी चीजें खरीदने से बचना है ।
स्टील से बनी चीजें - धनतेरस के दिन बहुत से लोग स्टील के बर्तन घर ले आते हैं , जबकि इन्हें खरीदने से बचना चाहिए । स्टील शुद्ध धातु नहीं है । इस पर राहु का प्रभाव भी ज्यादा होता है । आपको सिर्फ प्राकृतिक धातुओं की ही खरीदारी करनी चाहिए । मानव निर्मित धातु में से केवल पीतल खरीदा जा सकता है ।
एल्यूमिनियम का सामान - धनतेरस पर कुछ लोग एल्यूमिनियम के बर्तन या सामान भी खरीद लेते हैं । इस धातु पर भी राहु का प्रभाव अधिक होता है । एल्यूमिनियम को दुर्भाग्य का सूचक माना गया है । त्योहार पर एल्यूमिनियम की कोई भी नई चीज घर में लाने से बचें ।
लोहे की वस्तुएं - ज्योतिष शास्त्र के अनुसार , लोहे को शनिदेव का कारक माना जाता है । इसलिए लोहे से बनी चीजों को धनतेरस पर भूलकर भी खरीदने की गलती न करें । ऐसा करने से त्योहार पर धन कुबेर की कृपा नहीं होती है ।
नुकीली या धारदार चीजें - धनतेरस के दिन धारदार वस्तुएं खरीदने से बचें । इस दिन चाकू , कैंची , पिन , सूई या कोई धारदार सामान खरीदने से सख्त परहेज करना चाहिए । धनतेरस पर इन चीजों को खरीदना शुभ नहीं माना जाता है ।
प्लास्टिक का सामान - धनतेरस पर कुछ लोग प्लास्टिक की बनी चीजें घर ले आते हैं । बता दें कि प्लास्टिक बरकत नहीं देता है । इसलिए धनतेरस पर प्लास्टिक से बना किसी भी तरह का सामान घर न लेकर आएं ।
चीनी मिट्टी के बर्तन - धनतेरस पर सेरामिक (चीनी मिट्टी) से बने बर्तन या गुलदस्ता आदि खरीदना से बचना चाहिए । इन चीजों में स्थायित्व नहीं रहता है , जिससे घर में बरकत की कमी रहती है . इसलिए सेरामिक से बनी चीजें बिल्कुल न खरीदें ।
कांच के बर्तन - धनतेरस पर कुछ लोग कांच के बर्तन या दूसरी चीजें खरीदते हैं । कांच का संबंध राहु से माना जाता है , इसलिए धनतेरस के दिन इसे खरीदने से बचना चाहिए । इस दिन कांच की चीजों का इस्तेमाल भी नही करना चाहिए ।
काले रंग की चीजें - धनतेरस के दिन काले रंग की चीजों को घर लाने से बचना चाहिए । धनतेरस एक बहुत ही शुभ दिन है , जबकि काला रंग हमेशा से दुर्भाग्य का प्रतीक माना गया है । इसलिए धनतेरस पर काले रंग की चीजें खरीदने से बचें ।
खाली बर्तन घर ना लाएं - धनतेरस के दिन यदि आप कोई बर्तन या इस्तेमाल करने का सामान खरीदने की योजना बना रहे हैं तो ध्यान रखें कि उसे घर में खाली न लेकर आएं । घर में बर्तन लाने से पहले इसे पानी , चावल या किसी दूसरी सामग्री से भर लें ।
मिलावटी चीजें - धनतेरस के दिन यदि आप तेल या घी जैसी चीजें खरीदने जा रहे हैं तो थोड़ा सतर्क रहिए । ऐसी चीजों में मिलावट हो सकती है और इस दिन अशुद्ध चीजें खरीदने से बचना चाहिए । धनतेरस पर अशुद्ध तेल या घी के दीपक ना जलाएं ।

                  *ज्योतिषाचार्य*
          डाँ. पं. अशोक नारायण शास्त्री
          श्रीमंगलप्रद् ज्योतिष कार्यालय
245 , एम. जी. रोड ( आनंद चौपाटी ) धार , एम. पी.
                  मो. नं.  9425491351

             *~~:  शुभम् भवतु  :~~*


Share To:

Post A Comment: