सिहोर~मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गांव जेत में ही जनपद पंचायत के अधिकारी द्वारा लापरवाही की जा रही है जहां नल जल योजना के तहत आधे गांव में ही पानी आ रहा है जब मुख्यमंत्री के गांव में ही काम में इतनी बड़ी लीपापोती की जा रही है तो पूरे प्रदेश का क्या हाल हो रहा होगा~~

नसरुल्लागंज से आनंद अग्रवाल जिला ब्यूरो की रिपोर्ट ~~

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पूरे मध्यप्रदेश में कहते हैं कि पूरे राज्य में हर योजनाओं का कार्य बड़ी तेजी से चल रहा है लेकिन हकीकत में तो यह है कि मुख्यमंत्री के गांव में ही नल जल योजना में आधे गांव में ही पानी पहुंच रहा है जब इस बात की जानकारी खुद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को मिली जब कहीं जाकर मुख्यमंत्री द्वारा कलेक्टर एवं कमिश्नर को 15 दिन का समय दिया गया अगर किसी कारण से 15 दिन में यह व्यवस्था नहीं सुधरती है तो समस्त अधिकारियों को कार्रवाई की जाएगी  जब मुख्यमंत्री के गांव में ही अधिकार इतनी बड़ी लापरवाही कर रहे हैं तो पूरे प्रदेश में कितनी बड़ी लापरवाही चल रही होगी क्योंकि नल जल योजना का जिस गांव में भी बिछाई गई है वहा यही हाल है कहीं पानी आता है तो कहीं पानी नहीं आता है जब इसकी शिकायत पंचायत सचिव से या सीओ से की जाती है तो जवाब मिलता है कि देख लेंगे करवा देंगे अगर किसी कारण आम आदमी दो तीन बार बोलता तो वह अधिकारी कहते हैं कि आप से जो कार्रवाई बनती हो कार्रवाई कर ले हमे आता है सब अधिकारी से निपटना इतना कुछ सुनने के बाद आम जनता चुप हो जाती क्योंकि उसे मालूम है कि ऊपर से नीचे तक पूरा भ्रष्टाचार चल रहा है अपनी सुनवाई नहीं होगी इसलिए वह अपने घर को लौट जाता है


Share To:

Post A Comment: