नसरुल्लागंज~ तहसील कार्यालय में नाले पर अतिक्रमण हटाने के लिए तहसीलदार लाखन सिंह चौहान ने आखिरी तारीख 3 जनवरी दी है~~

कुछ ही अतिक्रमणकारियों ने जवाब में कहा है हमारी जितनी जमीन आ रही है इतनी जमीन प्रशासन को खरीद कर दे देंगे~~

अतिक्रमण कारी जिस जमीन को खरीदने की बात कह रहे हैं  वह जमीन पंजाब नेशनल बैंक के पास गिरवी पड़ी है जिस पर करोड़ों रुपए का बताया है~~

नसरुल्लागंज से आनंद अग्रवाल जिला ब्यूरो की रिपोर्ट~~

कल नसरुल्लागंज में 13 करोड 26 लाख की लागत से नाले का निर्माण कार्य किया जा रहा है जिसमें कई व्यक्तियों द्वारा अतिक्रमण कर लिया गया था जिस पर नसरुल्लागंज तहसील द्वारा नोटिस देने पर 27/12/2021 को सभी की सुनवाई की गई थी जिसमें इंदौर रोड बड़े पुल के पास से लेकर किसान मोहल्ले तक आने वाले 18 दुकानदारों ने इस सुनवाई में भाग लिया इस पर कुछ दुकानदारों ने यह कहा है कि हम शासन को जमीन खरीद कर दे देंगे जितनी जमीन हमारी अतिक्रमण में आ रही है उसमें कुछ दुकानदार ने तो साफ मना कर दिया कि हमारे पास इतना पैसा नहीं है कि हम शासन को जमीन खरीद कर दे दे जिन अतिक्रमण कारी ने जमीन को खरीदने की बात कह रहे हैं वह जमीन पहले से ही पंजाब नेशनल बैंक के पास गिरवी पड़ी है क्योंकि जिस व्यक्ति की यह जमीन है उस व्यक्ति ने पंजाब नेशनल बैंक से करोडो रुपए का लोन लिया है जिससे आज तक भरा नहीं है जिसके कारण पंजाब नेशनल बैंक द्वारा इस जमीन पर दो से तीन बार नीलामी हेतु बोर्ड लगा दिया गया है इससे यही जाहिर होता है कि जिन अतिक्रमणकारियों  ने जिस जमीन को खरीदने की बात कर रहे हैं वह प्रशासन को झूठा आश्वासन दे रहे हैं क्योंकि जमीन के ऊपर करोड़ों रुपए का बकाया है अब देखना है कि प्रशासन 3 जनवरी के दिन अतिक्रमण कारी जमीन खरीद कर देते हैं या प्रशासन अपनी शक्ति से अतिक्रमण हटाना है यह देखने वाला विषय है


Share To:

Post A Comment: