नसरुल्लागंज~ तहसील के ग्राम पंचायत गोपालपुर के रेत नाके पर जो भी  छिपानेर से रेत भरकर जो भी डंफर आता है उसे रॉयल्टी के रुपए के साथ उस डंपर वाले को पुलिस के नाम की 300 रुपए की एंट्री भी देना पढ़ती है~~

क्योंकि इस एंट्री के बाद बिना रोक टोक निकल जाते हैं इस लेनदेन का धंधा काफी दिनों से चल रहा है इस पूरे लेनदेन की  जानकारी खुद रेत कंपनी के व्यक्ति द्वारा मिल है इसकी सच्चाई का पूरा वीडियो है~~

नसरुल्लागंज से आनंद अग्रवाल जिला ब्यूरो की रिपोर्ट~~

नसरुल्लागंज तहसील के ग्राम पंचायत गोपालपुर रेत के नाके पर जो भी  छिपानेर से रेत भरकर जो भी डंफर आता है उसे रॉयल्टी के साथ उस  डंपर वाले को पुलिस के नाम की 300 रुपए की एंट्री भी देना पढ़ती है क्योंकि इस एंट्री के बाद डंपर एवं ट्रक वालों को कोई तकलीफ नहीं होती क्योंकि गोपालपुर नसरुल्लागंज तहसील का आखरी थाना पड़ता है इसलिए 2 किलोमीटर के बाद देवास जिला लग जाता है इसलिए गोपालपुर में कोई पुलिस वाला इन ट्रकों को नहीं रोकता है क्योंकि उन्हें पहले ही उन ट्रकों की एंट्री 300 रुपय के रूप में रेत के नाके पर मिल जाती है इस छिपानेर घाट से प्रतिदिन 50 से 100 डंपर रेत भरकर निकलते हैं तो आप समझ लीजिए कितना रुपए प्रतिदिन हिसाब से इकट्ठा होता होगा तो आप समझ लीजिए प्रतिमाह कितना इखट्टा होता होगा आप समझदार हैं जोड़ लेंगे


Share To:

Post A Comment: