झाबुआ~लेटर बॉक्स,लालटेन,कलम-दवात व हाथ चक्की जैसी चीजें उपयोग में नहीं,यही पंचायत चुनाव लडऩे वालों के प्रतीक चिह्न~~

दिला दी पुराने दिनों की याद ~~

झाबुआसंजय जैन~~

त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव में प्रत्याशियों को बांटे गए चुनाव चिन्ह चर्चा में है। लोगों की रोजमर्रा के उपयोग से गायब हो चुकी चीजों को राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव चिन्ह में शामिल किया है। जिला पंचायत के उम्मीदवारों को लालटेन चुनाव चिन्ह मिले हैं। जनपद पंचायत प्रत्याशियों को ब्लैक बोर्ड-लकड़ी के पाएं पर टिका हुआ और मशाल मिला है।

दिला दी पुराने दिनों की याद ....
जानकारी के मुताबिक आयोग ने जिला पंचायत के जनपद पंचायत ,सरपंच और पंच के लिए चुनाव चिन्ह निर्धारित किए हैं। जिले के पांच ब्लॉकों में पहले व दूसरे चरण में होने वाली पंचायत चुनावों के लिए चिन्ह का वितरण किया जायेगा। पंचायत चुनावों के लिए स्वीकृत चिन्हों ने पुराने दिनों की याद दिला दी हैं। जिला पंचायत के लिए गेहूं पीसने की हाथ चक्की, पुराना रेडियो, गैस बत्ती के साथ जनपद पंचायत में लेटर बाक्स,सरपंच के कलम-दवात सहित अतिरिक्त चुनाव निशान में डोली तक शामिल हैं।






भाजपा-कांग्रेस को जिपं चुनाव में बागियों से खतरा,कार्रवाई की तैयारी.....
भाजपा को जिला पंचायत में अपने समर्थित उम्मीदवारों के सामने खड़े बागियों से खतरा बढ़ गया है। पार्टी के प्रत्याशियों के समाने कार्यकर्ताओं के साथ ही पूर्व पदाधिकारी के सगे-संबंधी भी मैदान में हैं। सबसे ज्यादा संकट के दौर से भाजपा गुजर रही है। भाजपा नेता बागी प्रत्याशियों को गुरुवार दोपहर तक वापस लेने के लिए मनाते रहें,लेकिन उम्मीदवार नहीं माने। पार्टी नेताओं ने कार्रवाई का भी डर दिखाया लेकिन कोई असर नहीं पड़ा। अब सूची जारी होने के बाद नेता बागियों के नाम व पते लिखकर उन पर कार्रवाई का पत्र भोपाल भेजने की तैयारी में है। वहीं कांग्रेस भी पंचायत चुनाव समन्वय समिति बागियों की लिस्ट बना रही है।



Share To:

Post A Comment: