नानपुर~जोबट परियोजना की केनाल अधिकारीयो की लापरवाही के कारण टूटी~~

नानपुर से मांगीलाल वर्मा ~~

अलीराजपुर जिले के नानपुर से 4 किलोमीटर की दूरी पर ग्राम फाटा में बने डेम से जो नहर बनी है वह घटिया निर्माण के चलते नहर की हालत पूरी तरह ख़स्ता हो चुकी है  हर साल नहर की रिपेयर का पैसा आता है पर कई वर्षों से नहर में ना तो सही ढंग से साफ सफ़ाई हुई है और ना ही उसका रिपेयर काम किया गया है। डेम के आस पास भी झाड़ियों का अंबार लगा हुआ है ना तो वर्षो से झाडिया साफ की गई और ना ही हटाई गई, जबकि उन झाड़ियों से डेम को आने वाले दिनों में काफी नुकसान हो सकता है पेड़ो की जड़े फैलने से डेम आने वाले दिनों में काफी कमजोर भी हो सकता है और टूटने की भी अधिक सम्भावना है। जब हमारे रिपोर्टर ने फाटा डेम के अधिकारियों से पूछा तो उनका कहना है कि हमने 2 वर्ष पहले कैनाल की साफ-सफाई एवं रिपेयर का काम करवाया था लेकिन हमारे प्रतिनिधि ने देखा कैनाल की साफ-सफाई हुई नहीं है। जिसके कारण कैनाल काफी जगह पर धस चुकी है एवं कुछ स्थानों पर और धसने की आशंका है। जोबट सिंचाई परियोजना किसानों के लिए लाभकारी रही है लेकिन ऐसी स्थिति में अगर यह नहर नही रही तो किसानों को पानी मिलना मुश्किल हो जाएगा। क्योंकि जहां देखो वहां गड्ढे हो चुके हैं ऐसी स्थिति में गर्मी में किसानों को पानी मिलना मुश्किल हो जाएगा जिससे किसानों को काफी नुकसान हो सकता है यह परियोजना सिंचाई के लिए ही बनाई गई थी लेकिन अधिकारियों की लापरवाही से किसान एवं सरकार का नुकसान हो रहा है क्योंकि हर साल मेंटेनेंस के नाम पर पैसा आता है। अधिकारी कहते हैं कि हम हर साल पैसा लगाते हैं जब हमने जाकर देखा कैनाल की स्थिति बहुत ही खराब है और हर साल मेंटेनेंस का पैसा निकाल कर कहां लगाया जाता अधिकारी यह बताने को तैयार नहीं है। अधिकारियों का यही कहना है कि हमने साफ सफाई मैं खर्चे कर दिया है एसडीओ साहब का कहना है की पिछले साल उनके पास साफ सफ़ाई और मेंटेनेंस का कोई पैसा ही नही आया है, जो पैसा आया था 2 साल पहले वह हमने कैनाल के साथ सफाई में लगाया है लेकिन हमने देखा है की कैनाल की साफ सफाई हुई नहीं है वह पेमेंट निकाल लिया गया है 2 साल पहले ही।


Share To:

Post A Comment: