*भोपाल~ बाल भगवान' नाटक का मंचन सफल*~~

भोपाल सैयद रिजवान अली~~

अनवरत थिएटर द्वारा इन्दौर प्रेस क्लब व मातृभाषा उन्नयन संस्थान के साथ आयोजित *'बाल भगवान'* नाटक का मंचन शनिवार को राजेंद्र माथुर सभागृह, इन्दौर प्रेस क्लब में सम्पन्न हुआ, जिसमें मुख्य अतिथि इन्दौर प्रेस क्लब के अध्यक्ष अरविंद तिवारी, विशिष्ट अतिथि मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अर्पण जैन 'अविचल' रहे।
बाल भगवान नाटक को स्वदेश दीपक ने लिखा है और इसका निर्देशन अनवरत थियेटर के संस्थापक नितेश उपाध्याय ने किया, साथ ही, सह-निर्देशक अर्जुन नायक रहे।
इस नाटक में ग्रामीण परिवेश की कुरीतियों पर प्रहार करते हुए दर्शाया गया कि सिद्धड़ एक विक्षिप्त लड़का, जिसका पिता गाँव का पंडित तो है, लेकिन पक्का शराबी। हमेशा भूख से बेचैन रहने वाले सिद्धड़ के मुँह से जो बात निकलती थी, सच हो जाती थी। यह बात धुएँ की तरह फैल जाती है। उसके पंडित माँ-बाप इसे अपनी कमाई का ज़रिया बना कर उसे भगवान कहने लगे। लेकिन सिद्धड़ अभी भी दो रोटियों का मोहताज था, जबकि उसके माँ-बाप के सपने आसमान में उड़ान भर रहे थे। अफ़वाह फैल गई कि भूखा रहने पर ही सिद्धड़ सच बोलेगा। बेटे को भूखा रख उसे सच बोलने पर मजबूर करने के लिए पंडित व उसके बाकी दो बेटे उसे प्रताड़ित करते हैं, पेट पर लात पड़ने से सिद्धड़ की मौत हो जाती है।
मुख्य भूमिका में, सिद्धड़ के किरदार में रुद्रेश कुमार थे। पंडित के किरदार में अर्पित द्विवेदी ख़ूब जमे। पंडित की पत्नी विदिशा सिंह और बेटा मास्टर आर्यन अर्जुले थे। नाटक में अन्य कलाकार राहुल राव, आयुषी दुबे, अंकित परमार, कमलकांत धुर्वे, सागर यादव, प्रणव सिंह, अरुण चौधरी आदि रहे।

नाटक मंचन के दौरान अनवरत थियेटर द्वारा अतिथियों का स्वागत किया गया, तदुपरांत मंचन हुआ। इन्दौर प्रेस क्लब के कार्यकारिणी सदस्य अभय तिवारी, मुकेश तिवारी, नितेश गुप्ता, विघ्नेश दवे इत्यादि उपस्थित रहे।


Share To:

Post A Comment: