झाबुआ~शुरू हुआ साल का दूसरा महीना फरवरी ,बैंकिंग क्षेत्र में होंगे कई बदलाव-इनका आप पर होगा असर~~

बैंक अकाउंट में रुपए नहीं होने से यदि किस्त नहीं कटी तो दोगुना से ज्यादा पेनल्टी लगेगी,पैसा ट्रांसफर करने का शुल्क भी देना होगा~~

आईएमपीएस से कहीं भी भेजें रुपए~~



झाबुआसंजय जैन~~

कल से साल का दूसरा महीना फरवरी शुरू हो गया है। इसके साथ बैंकिंग क्षेत्र में कई बदलाव होने जा रहे हैं। पीएनबी के खाता धारकों को अकाउंट में पैसे रखना जरूरी होगा क्योंकि लोन ले रखा है और किस्त का भुगतान फेल हुआ तो अब से दो गुना से ज्यादा पेनल्टी चुकाना पड़ेगी। एसबीआई से पैसा ट्रांसफर करना महंगा हो जाएगा। बैंक ऑफ  बड़ौदा के चेक क्लीयरिंग सिस्टम में बदलाव होगा। अब बैंकिंग सेक्टर में कौन से बदलाव होने जा रहे है,जिसका सीधा आप पर असर होगा।





*एसबीआई* ......





एसबीआई से पैसा ट्रांसफर करने के नियमों में बदलाव होने जा रहा है। 2 से 5 लाख रुपए के बीच आईएमपीएस के जरिए पैसा ट्रांसफर करने पर बैंक 20 रुपए चार्ज वसूलेगा। आरबीआई ने अक्टूबर में आईएमपीएस अमाउंट की सीमा एक दिन में 2 से बढ़ाकर 5 लाख रुपए कर दी है। आईएमपीएस इमीजिएट मोबाइल पेमेंट सर्विस है। इसके जरिए किसी भी खाता धारक को कहीं भी कभी भी पैसे भेजे जा सकते हैं। इसमें पैसे भेजने के लिए समय को लेकर कोई पाबंदी नहीं है। किसी भी समय इसके जरिए पैसा भेजा जा सकता है।





*पीएनबी* -100 के बजाय 250 रु.लगेंगे.....
पीएनबी के खाता धारकों ने लोन ले रखा या निवेश कर रखा है तो अकाउंट में पैसा रखना अब जरूरी है। पैसा नहीं होने पर दोगुना से ज्यादा पेनल्टी चुकाना होगी। अभी अकाउंट में पैसे नहीं होने या किस्त का अमाउंट फेल होने पर 100 रुपए पेनल्टी लगती थी। अब से बैंक 250 रुपए पेनल्टी लगेगी। यानी लोन या अन्य निवेश का ऑप्शन फेल होता है तो आपको ज्यादा राशि चुकाना होगी।






*बैंक ऑफ  बड़ौदा* 10 लाख रुपए के ऊपर के चेक पर लागू की जा रही है व्यवव्स्था.....
बैंक ऑफ  बड़ौदा की सेवा में बदलाव होने जा रहा है। चेक पेमेंट के लिए ग्राहकों के लिए पॉजिटिव पे सिस्टम लागू होगा। यानी चेक से जुड़ी जानकारी भेजने पर ही चेक क्लियर हो जाएगा। यानी चेक के नंबर सहित अन्य जानकारी भेजना होगी। अभी तक यह व्यवस्था नहीं थी। अब यह लागू होने जा रही है। यह व्यवस्था 10 लाख रुपए से ऊपर के चेक क्लीयरेंस सिस्टम के लिए लागू की जा रही है।






*बैंक ऑफ  इंडिया *
 चेक पेमेंट के लिए ग्राहकों के लिए पॉजिटिव पे सिस्टम लागू होगा। यानी चेक से जुड़ी जानकारी भेजने पर ही चेक क्लियर हो जाएगा। बैंक ऑफ़  इंडिया के प्रबंधक पंकज जी ने बताया कि यह व्यवस्था 49 हजार  से ऊपर के चेक क्लीयरेंस सिस्टम के लिए लागू की है।




Share To:

Post A Comment: