*2079 अप्रैल से हिंदू नववर्ष का आरंभ , 1 वर्ष मे होंगी 10 बडी बातें*~~

          मालवा के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य डाँ.अशोक शास्त्री ने एक विशेष मुलाकात मे बताया कि हिंदू नववर्ष संवत् 2079 का आरंभ 02 अप्रैल शनिवार से हो रहा है । वर्तमान संवत् मे दुनिया ने कोरोना महामारी , युद्ध , अस्थिर अर्थव्यवस्था मे बहुत उतार - चढ़ाव देखा । अब जबकी हिंदू नया वर्ष आने वाला है तो आम लोगों को इस संवत् को लेकर बहुत उम्मीद है । डाँ. शास्त्री के मुताबिक संवत् 2079 मे 10 बडी घटनाएँ हो सकती है ।
1 ~ दिनांक 02 अप्रैल से नल नामक संवत्सर का आरंभ हो रहा है । जो बडी मंहगाई के कारण जनता मे आक्रोश बढाने वाला होगा ।बच्चों से संबंधित कोई रोग भय पैदा कर सकता है ।
2 ~ विश्व मे राजनीतिक वातावरण और मुद्दों को लेकर तनावपूर्ण स्थिति रहेगी । आम जनता रोग और अर्थव्यवस्था मे भारी उतार - चढ़ाव से परेशानी होगी ।
3 ~ संवत् 2079 की प्रवेश कुंडली मे कालसर्प योग एवं विरोधी ग्रहों सूर्य , शनि , गुरु , शुक्र , के बीच बनने वाले योग की वजह से विश्व के अनेक देशों मे विस्फोट घटनाक्रम रहेगा , आतंकी गतिविधियां , तख्तापलट के साथ गृह युद्ध जैसी परिस्थित बनेगी ।
4 ~ मुस्लिम बाहुल्य वाले पश्चिम एशिया के देशों में धार्मिक विषयों को लेकर जन आंदोलन की स्थिति बन सकती है । इससे यूरोपीय देश , रूस और अमेरिका भी प्रभावित होंगे । इससे बहुत लोगों को अपने स्थान से विस्थापित होना पड सकता है ।
5 ~ दिनांक 27 जून से  10 अगस्त के मध्य अंगारक योग और सूर्य शनि के समसप्तक योग के प्रतिकूल प्रभाव से अंतरराष्ट्रीय राजनीति मे बडा विचित्र माहौल देखने को मिल सकता है । सोना और तांबे की कीमत मे जबरदस्त तरीके से उछाल आ सकता है ।
6 ~ माह अगस्त से नवंबर के मध्य अशुभ योग प्रभावकारी रहेंगे । ऐसे मे किसी राज्य की सत्ता मे तेज हलचल हो सकती है । इस समय किसी सत्तारूढ व्यक्ति को सत्ता से हटाया जा सकता है ।
7 ~ संवत् 2079 मे भारत सरकार सामाजिक क्षेत्र मे बेहतरी लाने के लिए कई नई योजनाएं लाएगी , लेकिन महंगाई की मार से जनता मे निराशा ही बढेगी ।
8 ~ नया संवत् भारत के पडोसी देशों के लिए बिल्कुल अनुकूल नही है । विश्व राजनीति मे चीन बिल्कुल अलग  - थलग पड जाऐगा । इस वर्ष विश्व मे कुछ नए राजनीतिक समीकरण बनेंगे जिनका भविष्य मे बहुत असर पडेगा।
9 ~ इस संवत् मे लोहा , स्टील , पेट्रोलियम , कोयला , गेंहू   काले चने , और सभी प्रकार की दालों की कीमतों मे उछाल आएगा । इन वस्तुओं से जुडे व्यापारी बहुत लाभ कमाएंगे ।
10 ~ भारत के पडोसी देश पाकिस्तान और अफगानिस्तान मे बडी राजनीतिक उथल-पुथल होगी । सत्ता को जन आक्रोश का सामना करना पडेगा । यहां की राजनीति मे बडे बदलाव हो सकते है । जबकी भारत के लिए विषम परिस्थिति मे भी यह वर्ष काफी हद तक संतुलित रहेगा  ।। ( डाँ.अशोक शास्त्री )


Share To:

Post A Comment: