धार~कुटिया नुमा गौशाला में लगी भीषण आग
गर्भवती सहित कुल 6 गाय की जलने से हुई मौत~~

सूचना पर पहुंचे हिंदू संगठन के पदाधिकारी
टैंकर से आग पर पाया काबू ~~

कुटिया के संत जंगल में गए थे लकड़ी बीनने, तब लगी आग पर पाया काबू~~

धार ( डाँ.अशोक शास्त्री )

ग्राम धरमपुरी के समीप स्थित नवीन पुनर्वास में अस्थाई कुटियानुमा गौशाला में मंगलवार दोपहर के समय अचानक आग लग गई, आग इतनी विकराल थी कि जिसमें गौशाला में बंधी गायों को अपनी चपेट में ले लिया व कुछ ही देर में 6 गायों की जलने से मौत हो गई। जिसमें एक गर्भवती गाय भी शामिल थे, हालांकि सूचना मिलने पर ही हिंदू संगठन के पदाधिकारी मौके पर पहुंचे व दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। इस गौशाला की कुटिया में 10 गायें थी, इनकी रखवाली का जिम्मा क्षेञ के संत के पास था। हादसे के दौरान संत जंगल में लकड़ी बीनने गए थे, तभी अचानक अज्ञात कारणों से आग लग गई।
जानकारी के अनुसार दुर्गा माता मंदिर से महज कुछ दूरी पर नर्मदा गिरी महाराज ने लकडी व भूसे की कुटिया बनाकर गायों के लिए अस्थाई गौशाला बना रखी थी, इसी कुटिया में अचानक आग लग गई। घटना में गौशाला में बंधी गायों की मौत हो गई, हालांकि कुछ बंधी हुई गायों को राहगीरों ने छोड़ दिया जिसके चलते कुछ गाय की जान बच गई। हिंदू संगठन के पदाधिकारियों के पहुंचने के बाद डॉयल 100 मौके पर पहुंची व नगर परिषद धरमपुरी का टैंकर पहुंचा, जिसके बाद आग पर काबू पाया जा सका। इधर सूचना मिलने पर पटवारी मौके पर पहुंचा तथा पंचनामा तैयार किया गया है। वहीं संगठन के पदाधिकारी अचानक लगी आग का कारण जानने में जुट गए है।
इनका कहना है
अस्थाई गौशाला में आग लगने की सूचना मिली थी, पटवारी ने अपनी रिपोर्ट में 6 गायों की मौत होने के बारे में प्रारंभिक तौर पर जानकारी दी है। गायों का पोस्टमार्टम भी करवाया जाएगा, हालांकि आग लगने का कारण अभी अज्ञात है।
संजय शर्मा, तहसीलदार, धरमपुरी
------------------------


Share To:

Post A Comment: