धार~वारंटी के चक्कर में दूसरे युवक को उठा लाई पुलिस ~~

कपड़े उतरवाकर लगाई हथकड़ी, युवक ने लगाए पिटाई के आरोप ~~

एसपी ने मामले की जांच एसडीओपी को सौंपी, पुलिसकर्मियों पर नशे में होने के आरोप ~~

धार ( डाँ.अशोक शास्त्री )।

जिले में इन दिनों वारंटियों को गिरफ्तार करने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा हैं, इस अभियान के तहत नालछा पुलिस टीम एक वारंटी को तलाश करते हुए ग्राम काकडदा पहुंची। जहां पर सरपंच के माध्यम से आरोपी की तलाश की गई, कुछ देर बाद वांरटी के चक्कर में दूसरे युवक को लेकर थाने पर आ गई। यहां पर पहले इस युवक से पूछताछ की गई, किंतु युवक ने मारपीट नहीं करने की बात कही। किंतु पुलिसकर्मियों ने एक बात नहीं सुनी व युवक के कपडे उतरवाकर उसे हथकडी लगाकर टेबल से बांध दिया। हालांकि जिस वारंटी की तलाश में पुलिस टीम गई थी, कुछ देर बाद उसे भी लेकर थाने पर पहुंची। इधर बेकसूर युवक को थाने ले जाने की सूचना पर बडी संख्या में ग्रामीण थाने पर पहुंचे। वहीं सोमवार सुबह मामला संज्ञान आने के बाद एसपी ने जांच एसडीओपी को सौंपी व जल्द रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए है।
7 साल पहले की थी मारपीट
नालछा थाने से प्राप्त जानकारी के अनुसार बबलु नाम के युवक के साथ साल 2015 में राधेश्याम, मंजित व संजय नाम के युवकों ने मारपीट की थी। इसके बाद 19 जनवरी 2021 को संजय के नाम का स्थाई वारंट कोर्ट से जारी हुआ था, वारंटी को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीम ग्राम काकडदा पहुंची। जहां पर चंद्रभान नाम के सरपंच ने बताया कि संजय उर्फ संजू पिता हिरा ग्राम आली कुछ दिनों से गांव में ही झोपड़ी बनाकर संजू नाम से रहता हैं, ऐसे में पुलिस संजू को लेकर थाने पर पहुंची। जहां पर संजू नाम के इस दूसरे युवक से पूछताछ की गई, जिसमें यह बात सामने आई कि संजू का पूरा नाम सुनील पिता हीरा हैंं, तथा आरोपी संजय व सुनिल रिश्तेदारी में भाई है। जिसके कारण पुलिस संजय की जगह सुनील को लेकर थाने पर आ गई। हालांकि सुनिल को कुछ देर बाद थाने से छोड दिया गया था, किंतु सुनिल ने आरोप लगाया कि उसे कपड़े उतरवाकर मारपीट की गई तथा जिन पुलिसकर्मियों ने उसके साथ मारपीट की वे सभी शराब के नशे में थे। इधर टीआई जयराज सोलंकी का कहना हैं कि नाम की गलफत में सुनिल को लेकर थाने पर आए थे, कुछ देर बाद थाने से छोड दिया गया था। कोई भी जवान नशे में नहीं था, सभी आरोप गलत है।
इनका कहना है
फोटो संज्ञान में आने के बाद मामले की जांच एसडीओपी धामनोद को सौंपी गई हैं, रिपोर्ट पेश होने के बाद एसपी सर द्वारा कार्रवाई की जाएगी।
मोनिकासिंह, डीएसपी, धार


Share To:

Post A Comment: