बड़वानी ~सोशल मीडिया के माध्यम से बिछड़ी मानसिक  विक्षिप्त महिला को मिलाया परिवार से~~

रंगपंचमी के एक दिन पहले  एसडीएम श्री घनश्याम धनगर के मार्गदर्शन में एक गुमशुदा मानसिक विक्षिप्त लड़की की जानकारी चाइल्डलाइन जिला समन्वयक के संज्ञान मे आयी  ,जिसमे ज्ञात हुआ कि  प्रथम दृष्ट्या लड़की का मानसिक संतुलन  ठीक नहीं है ,और वह इधर उधर घूम रही है जिस कारण इसके  साथ किसी भी प्रकार की  घटना न  हों सके इसलिएअपनी अभिरक्षा में लेकर जल्द ही उसके परिवार का पता लगाए,जिला  समन्वयक एक ओर गुमशुदा बालिका के केस में सेंधवा थे उस दौरान बाल कल्याण समिति अध्यक्ष को कॉल कर बताया गया तब अध्यक्ष द्वारा बालिका को आशाग्राम ट्रस्ट के हॉस्पिटल में अभिरक्षा दी गई अगले दिन रंगपंचमी पर भी आशाग्राम की टीम द्वारा अपनी पूर्ण कर्तव्य निष्ठा के साथ उस लडक़ी का पूर्ण ध्यान रखा गया जिसमे यह निकल कर आया कि वह पाटी की है।मनोचिकित्सक डॉक्टर राहुल पाटीदार द्वारा उसकी मानसिक स्थिति देखी गईं और कुछ जांचे भी करवाई गई।  उधर चाइल्ड लाइन समन्वयक ललिता गुर्जर द्वारा व्हाट्सएप  के माध्यम से लड़की के परिजनों का पता लगाने की कोशिश की जिसमे की शाम के समय उनके पास निरीक्षक प्रवीण चौहान का कॉल आया और बताया कि यह महिला तो पाटी ब्लॉक के वेरवाडा की है तथा इसके 2 बच्चे भी है । तब परिजनों के नम्बर निकालकर दिए गए और फिर लड़की के भाई से बात की गई ।लड़की और उसके ससुर और भाई को एसडीएम घनश्याम धनगर के समक्ष प्रस्तुत किया गया सर द्वारा  समझाइश दी अब से ऐसा नहीं होना चाहिए आप अपनी बहु का अच्छे से ध्यान रखे,तब परिजनों ने बताया कि यह बचपन से ऐसी नही तो 3-4 वर्षो से उसकी ऐसी हालत हुई है तब सर द्वारा कहा गया कि उसका इलाज  समय से चलने दे और जो दवाइयां दी जा रही है वह समय से दे आपकी बहु ठीक हो सकती है,आप उसका  ध्यान रखे।


Share To:

Post A Comment: