झाबुआ~पाबंदियां हटीं तो शादियों की खुशी चार गुना,19 से मुहूर्त-मांगलिक भवन व मैरिज गार्डन में अप्रैल की सभी तारीखें फुल,10 दिन में ही 150 शादियां~~

मैरिज गार्डन,हॉल का किराया 70 हजार से लेकर 2 लाख रुपए तक-सोने में तेजी -44 दिन बाद फिर सोने के भाव 53 हजार रुपए प्रति 10 ग्राम के पार-लग्नसरा के पहले हुआ महंगा~~



झाबुआसंजय जैन~~

कोरोना के कारण पिछले दो साल से शादियां पाबंदियों के बीच हुईं,लेकिन अब सभी प्रकार की पाबंदियां खत्म होने से शादियों की खुशी चार गुना है। ज्योतिषियों व पंडितों के अनुसार मलमास-खरमास विवाह सहित सभी शुभ कार्य नहीं होते है, लेकिन 14 अप्रैल को मलमास खत्म होते ही शादियों व शुभ कार्यों को दौर शुरू हो जाएगा। इस बीच 18 अप्रैल तक शुक्रतारा अस्त होने से 19 अप्रैल से शादियों के शुभ मुहूर्त शुरू होंगे,जो 9 जुलाई तक रहेंगे। शादियों की धूम 15 अप्रैल से ही शुरू हो  जाएगी। इसके लिए अप्रैल के सभी मुहूर्त के साथ अन्य शुभ दिन की तारीखों में भी मांगलिक भवन से लेकर मैरिज गार्डन-हॉल व होटले बुक हो चुकी है।

 
अप्रैल की सभी तारीखें फुल........
गर्मियों का सीजन होने के बाद भी इस साल बहुत शादियां है,क्योंकि कोरोना संक्रमण के कारण बीते दो साल शादियां तो हुईं,मगर उनके समारोह सही मायनों में आयोजित नहीं  हुए। अब जब सब कुछ  सामान्य है। ऐसे में अपने  बच्चों और भाई-बहन की  शादी धूमधाम से करने की  पूरी तैयारी लोगों द्वारा की  जा रही है। यही कारण है  कि झाबुआ के तमाम मैरिज गार्डन-हॉल,होटल एवं धर्मशालाएं शादियों के लिए बुक हो चुकी है या हो रही है। पंडितों व शादियों के आयोजनों से जुड़े लोगों की माने तो तेज गर्मी का सीजन होने के बाद सभी तारीखें फुल हो चुकी है।



 
संख्या की पाबंदियां खत्म हुई तो खुलकर बुला रहे है मेहमान......
खास बात यह है कि बीते दो साल, विशेषकर गर्मियों में शादियों का जश्न कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण अत्यधिक सीमित रहा। विवाह समारोह 20,50,100 और 200 मेहमान संख्या की पाबंदियों के साथ नीरसता से हुए। मगर अब फिर से लोगों ने 300 से 1500 मेहमानों तक की योजना के साथ मैरिज गार्डन बुक कराना शुरू कर दिए हैं। सकारात्मक माहौल बनता देख मैरिज गार्डन-हॉल,होटल व धर्मशाला संचालकों में भी उत्साह देखा जा रहा है। संचालकों का कहना है कि उनके पास अब मुख्य समारोह के लिए 300 से लेकर 1200 मेहमानों तक की बुकिंग है।


पंडित खाली नहीं हैं.....
 मई-जून में गर्मी ज्यादा रहती है। इसलिए अधिकांश लोग अप्रैल व मई के पहले पखवाड़े में ही शादियां करना ज्यादा पसंद करते है। यहीं कारण है कि अप्रैल में तो परिषद से जुड़े पंडितों के पास तारीखें खाली नहीं है। मई के मुहूर्त की भी अधिकांश तारीखें बुक है। अप्रैल माह में झाबुआ व आस-पास ही 150 से ज्यादा शादियां के लग्न निकले है।


 सभी तरह से इंतजाम कर रखे है.....
मौसम को देखते हुए इस बार मैरिज गार्डन,हॉल,होटल संचालकों ने सभी तरह से इंतजाम कर रखे है। मैरिज गार्डन,हॉल, होटल संचालकों ने बताया कि शादियों का यह सीजन सभी के लिए अच्छा रहेगा। शहर में आस-पास स्थित सुविधायुक्त मैरिज गार्डन,हॉल व होटल में पैकेज सिस्टम से भी बुकिंग हो रही है। भोजन,केटरिंग व लाइटिंग को छोड़कर 70 हजार से लेकर 2 लाख रुपए प्रतिदिन का पैकेज है। कुछ जगह भोजन के साथ भी पैकेज है, लेकिन वह मेन्यू के अनुसार है।


लग्नसरा के पहले हुआ महंगा सोना.......
फरवरी के बाद से ही सोने-चांदी के भाव में उतार-चढ़ाव चल रहा है। 44 दिन बाद फिर से सोने के भाव 53 हजार रुपए प्रति 10 ग्राम के पार हो गए। रविवार को भाव 53 हजार 150 रुपए हो गए। दूसरी तरफ  चांदी के भाव इस माह 67 हजार रुपए के आस-पास ही रहे। मार्च में सोने के भाव 52 हजार रुपए से कम हो गए थे। किन्तु अप्रैल माह का ट्रेंड देखे तो 52 हजार से भी कम नहीं हुए और साढ़े 52 हजार के अंदर ही रहे। किन्तु 7 अप्रैल से लगातार भाव में तेजी शुरू हुई और 650 रुपए की तेजी के साथ सोने के भाव आज 53 हजार 150 रुपए तक पहुंच गए। रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण  पहले से ही सोने-चांदी के दामों में तेजी है। उस पर अंतरराष्ट्रीय बाजार कुछ समय से हो रही उठापटक के कारण तेजी बनी हुई है।

 
विवाह के शुभ मुहूर्त..........
अप्रैल-20,21,22,23 मई-2,3,10,11,12,18,20,25,26,31 जून-1, 6, 8,11,13,20,21 जुलाई-3,4 ,8,9 तक


Share To:

Post A Comment: