धार~मामला 200 करोड़ रुपए कीमत की जमीन का
कोर्ट से जमानत आवेदन हुआ खारिज, सरेंडर करने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा~~

आरोपी सुधीर की पत्नी को लेकर खारिज हुए आवेदन पर की टिप्पणी रही महत्वपूर्ण  ~~

धार ( डाँ.अशोक शास्त्री )।

जनकल्याण के लिए दी गई सेंट टेरेसा के मामले में फरार चल रहे 30 हजार के ईनामी आरोपी सुधीर जैन को धार कोर्ट से बडा झटका लगा हैं, कोर्ट ने आरोपी की अग्रिम जमानत आवेदन को खारिज कर दिया है। वहीं जैन की पत्नी की पहले से ही हाईकोर्ट से जमानत खारिज हो चुकी हैं, ऐसे में अब सुधीर के पास पुलिस से बचने का कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा है। अब आरोपी सुधीर को पुलिस के सामने सरेंडर ही होना पडेगा। हालांकि आरोपी हाईकोर्ट भी जाएगा, किंतु जमानत मिलना अब कठिन दिखाई दे रहा है।
दरअसल 28 नवंबर 2021 को कोतवाली पुलिस ने सेंट टेरेसा की शासकीय जमीन को विक्रय करने के मामले में 26 नामजद आरोपी सहित एक संस्था को आरोपी बनाया था। प्रकरण दर्ज होने के चार माह बीत चुके हैं, किंतु मुख्य आरोपी सुधीर जैन फरार ही चल रहा है। जिला न्यायालय में सुधीर की ओर से जमानत आवेदन लगाया गया था। इसमें दो मर्तबा तारीख बढ़ने के कारण सुनवाई नहीं हो पाई थी। कोर्ट ने आवेदनकर्ता के अधिवक्ता और शासकीय अधिवक्ताओं के तर्क को सुनने के पश्चात आवेदन खारिज कर दिया है। इस दौरान शासन की और से मौजूद विधिक अधिकारियों ने जमानत के विरोध में कई तर्क पेश किए। इस दौरान उच्च न्यायालय में विगत दिनों सुधीर शांतिलाल की पत्नी आयुषी की अग्रिम जमानत आवेदन को खारिज करने के दौरान की गई टिप्पणी पर भी ध्यानाकर्षण कराया गया। शीर्ष कोर्ट ने टिप्पणी में बेल खारिज करते हुए यह कोड किया था कि उक्त मामले में सरेंडर के अवसर होने के बावजूद सरेंडर नहीं किया गया और मामले में बराबर की संलिप्तता है। जिसके कारण ही जमानत नहीं दी गई है।


Share To:

Post A Comment: