झाबुआ~एक माह में आटे के भाव 25 से 30 रुपए किलो हुए, शक्कर में 2 रुपए तो सोयाबीन तेल में 6 रुपए किलो की बढ़ोतरी~~

पहले यूक्रेन युद्ध और फिर मंडी में गेहूं की बढ़ी कीमतों.-त्योहार के कारण बढ़ी शक्कर की मांग~


झाबुआसंजय जैन~~

अब डीजल भाव और लग्नसरा का असर किराना बाजार में देखने को मिल रहा है। आटा,तेल व शकर सभी तेजी लिए हैं। दाल जरूर स्थिर है लेकिन भाव कम नहीं हैं। एक महीने में हर वस्तु के भाव में बढ़ोतरी हुई है। सबसे ज्यादा असर आटा,शक्कर व तेल में दिखा है। यही हर घर की पहली जरूरत हैं।





 
बरकरार रहेगी तेजी ........
गेहूं महंगे होने से किसानों को तो अच्छे दाम मिल रहे हैं लेकिन आटा महंगा हो गया है। पिछले महीने से तुलना करें तो 1 से 3 रुपए किलो तक की बढ़ोतरी हो चुकी है। फुटकर में आटा 25 से 30 रुपए किलो तक में बिक रहा है। शक्कर के थोक भाव में भी 2 रुपए किलो तक की बढ़ोतरी होकर 38 रुपए किलो पहुंच गई है। फुटकर में शक्कर 39 से 42 रुपए किलो में बिक रही है। सोयाबीन तेल में भी ज्यादा राहत नहीं है। पिछले महीने के मुकाबले भाव 6 रुपए किलो भाव बढ़े हैं। व्यापारियों के अनुसार तेजी बरकरार रहेगी।




हो गया आटा महंगा .....
आटा ऐसी खाद्य सामग्री है जिसका उपयोग हर वर्ग करता है। व्यापारियों के अनुसार लंबे समय से आटे के भाव काबू में थे। इस बीच यूक्रेन युद्ध के कारण भाव कुछ दिनों तेजी लिए रहे और फिर कम हो गए थे। पिछले महीने से मंडियों में गेहूं के भाव बढ़ने के कारण आटा के भाव आसमान छूने लगे हैं। किराना व्यापारियों व आटा चक्की संचालकों के अनुसार विभिन्न कंपनियों का पैकिंग और चक्की पर पिछले महीने तक फुटकर में 24 से 27 रुपए किलो में आटा पैकिंग व खुले में मिल रहा था। वह अब 25 से 30 रुपए किलो तक का हो गया है क्योंकि गेहूं महंगा आ रहा है और उसके बाद छंटाई और पिसाई खर्च भी लगता है। थोक से लेकर फुटकर तक का मुनाफा भी देखना होता है,ऐसे में थोक भाव से आटा 1 से 2 रुपए किलो तक बाजार में महंगा रहता है।






सोयाबीन तेल थोक में 160 रुपए से 166 रुपए किलो हुआ
सोयाबीन तेल में पिछले माह करीब 6 रुपए किलो की तेजी रही है। जहां पिछले महीने थोक भाव 160 रुपए किलो थे,ो बढ़कर 166 रुपए किलो तक पहुंच गया। शुक्रवार को भाव में कुछ राहत रही है लेकिन यह ज्यादा दिनों रहने वाली नहीं है। व्यापारियों के अनुसार लग्नसरा के मुहूर्त अब 1 मई से हैं, ऐसे में 3-4 दिन बाद फिर से मांग बढ़ते ही तेजी शुरू हो जाएगी। व्यापारियों के अनुसार फिलहाल भाव इसी प्रकार उतार-चढ़ाव लिए रहेंगे। इसी तरह थोक बाजार में दाल के भाव मामूली बढ़ोतरी के साथ भाव स्थिरता लिए हुए है। व्यापारियों के अनुसार तुवर दाल 100-105 रुपए किलो,चना 60-62 रुपए,मूंग व उड़द छिलका 85 से 90 रुपए और मूंग व उड़द बिना छिलका 90 से 93 रुपए किलो थोक में मिल रही है।





भाव में उतार-चढ़ाव रहेगा....
गेहूं के भाव जब तक मंडी में कम नहीं होंगे,आटा के भाव में कमी नहीं आएगी। मिल क्वालिटी का गेहूं भी महंगा हो गया है जिससे आटे में तेजी है। शकर की मांग व किराया-भाड़ा बढऩे से भाव बढ़ा हैं,सोयाबीन तेल के भाव पिछले कुछ दिनों से लगातार बढ़ रहे थे। आज कुछ राहत है लेकिन यह ज्यादा दिन नहीं रहेंगे। सप्ताह के अंत तक फिर से मांग बढ़ते ही भाव में तेजी आएगी। इस बीच भाव में उतार-चढ़ाव रहेगा। रमजान माह और लग्नसरा दोनों चल रहे है। इससे बाजार में मांग है, जिससे शकर के थोक बाजार में भाव 2 रुपए प्रति किलो बढ़कर 38 रुपए हो गए हैं। फुटकर में 39 से लेकर 42 रुपए तक के भाव है।
...................राजु मेहता- पद्मावती किराना




Share To:

Post A Comment: