धार~कॉलोनी विकास की अनुमति लिए बगैर बस दी कॉलोनी ~~

एसडीएम के आदेश के बाद पुलिस ने की कार्रवाई
कॉलोनाइजर सहित कुल 9 लोगों पर प्रकरण दर्ज ~~

धार ( डाँ.अशोक शास्त्री )।

ग्राम राजगढ में स्थित राजेंद्र कॉलोनी को लेकर जिला प्रशासन की ओर से कार्रवाई की गई हैं, इस मामले में एसडीएम सरदारपुर के आदेश के बाद पुलिस ने कॉलोनाइजर सहित कुल 9 लोगों को आरोपी बनाया हैं। इन लोगों ने कॉलोनी विकास की अनुमति लिए बगैर ही पूरी कॉलोनी को बसा दिया था, इस मामले में जानकारी प्राप्त होने के बाद लंबे समय से प्रकरण एसडीएम कोर्ट में चल रहा था। जिसके बाद सरदारपुर एसडीएम ने मामले में कार्रवाई के लिए पञ राजगढ पुलिस को लिखा, इसी के आधार पर पुलिस ने मध्यप्रदेश नगर पालिका अधिनियम 1961 सहित अन्य धारा में प्रकरण दर्ज किया है।
दो सर्वे भूमि पर बसी हुई कॉलोनी
राजगढ पुलिस ने प्रकरण में पटवारी जितेंद्र यादव की रिपोर्ट पर कार्रवाई की है। राजस्व विभाग के पञ के अनुसार कृषि भूमि खसरा क्रमांक 455 रकबा 2-164 हेक्टेयर व खसरा क्रमांक 469 3-396 हेक्टेयर भूमि कुल 5 हेक्टेयर से भी ज्यादा पर राजेंद्र कॉलोनी को बसाया गया। इस कॉलोनी के निर्माण के लिए आरोपियों ने कॉलोनी लाइसेंस, विकास की अनुमति, धारा 59 के अंतर्गत भूमि को व्यपर्तित किए बिना व टीएनसी लिए बगैर काम किया था। अवैध तरीके से निर्माण की गई कॉलोनी की शुरुआत वर्ष 1998 से शुरु हुई थी, जिसमें आज दिनांक तक कई प्लॉट आरोपियों ने बेचकर शासन के साथ धोखाधडी की है। ऐसे में पुलिस ने नारायणसिंह पिता उदाजी, रुपा पिता उदा, केसरसिंह पिता उदाजी, विजय पिता मोहनलाल, पारसकुमार पिता मांगीलाल, राजेंद्र कुमार पिता बाबुलाल, संतोष कुमार पिता माणकचंद्र, ज्ञानेंद्र कुमार पिता मिश्रीलाल, शीलादेवी पति मांगीलाल को आरोपी बनाया है। इस कॉलोनी के मामले में धार कलेक्टर न्यायालय से भी कार्रवाई को लेकर गत दिनों आदेश जारी हुए थे। 
इनका कहना है
राजस्व विभाग से पञ प्राप्त हुआ था, जिसमें बगैर अनुमति के कॉलोनी में निर्माण होने की बात कही गई थी। जिसके आधार पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है, मामले की जांच जारी है।
ब्रजेश कुमार मालवीय, टीआई, राजगढ
-------


Share To:

Post A Comment: