*खेतिया~मोदी जी -मैं आत्मनिर्भर,,, मुझे मुफ्त का अनाज नहीं चाहिए*~~

खेतिया से राजेश नाहर~~


मुफ्त में दिए जाने वाला अनाज मुझे नहीं चाहिए मैं आत्मनिर्भर हो गया हूं मेरा व मेरे परिवार का अनाज सुरक्षित अनाज बैंक में रखें जो  गरीब लोगों के समय पर काम आ सके ऐसी मांग खेड़ दीगर महारास्ट्र करके एक युवक ने तहसीलदार शहादा से की।
      खेतिया से लगी महारास्ट्र सीमा के ग्राम खेड़ के युवा श्री राजू सोमा शिंदे ने शहादा महारास्ट्र के तहसीलदार मिलिंद कुलकर्णी जी को दिए अपने आवेदन में स्वयं का व परिवार का मुफ्त अनाज का कोटा रोकने की मांग की। अपने आवेदन में श्री राजू शिंदे ने तहसीलदार श्री कुलकर्णी से मांग की है कि मेरा व मेरे परिवार का राशन अनाज बैंक में जमा कर किया जाए साथ ही मुझे मिलने वाले मुफ्त राशन के कोटे को बंद किया जाए ।
     श्री राजू शिंदे के अनुसार प्रधानमंत्री द्वारा कोरोना के प्रादुर्भाव के चलते गरीब लोगों के लिए विशेष राशन वितरण का कार्य प्रारंभ किया गया है कोरोना के प्रादुर्भाव के चलते कई परिवार आर्थिक तंगी से ग्रस्त हैं मैं व मेरा परिवार आत्मनिर्भर हो गया है अतः मैं यह मुफ्त का राशन नहीं चाहता हूं इसी संबंध में तहसीलदार शहादा को आवेदन देकर स्वयं व परिवार को मिलने वाले राशन का कोटा स्थगित करने का निवेदन भी श्री शिंदे द्वारा किया गया । महारास्ट्र के अंतिम छोर पर बसे छोटे से ग्राम खेड़ दीगर के युवा राजू शिंदे की पहल की सभी और प्रशंसा की जा रही है जहां एक और मुफ्त के राशन के लिए कई अच्छे अच्छे लोग जुगाड़ कर रहे हैं वहीं युवा राजू शिंदे का यह कदम लोगों को प्रेरणा देगा अति गरीब लोगों को राशन मिले उनका उत्थान हो इसी भावना के चलते श्री शिंदे ने अपना मुफ्त अनाज का कोटा शासन को वापस किया है।
खेतिया से राजेश नाहर


Share To:

Post A Comment: