धार~जनजाति समाज से अपनी रीति रिवाज परंपराएं छोड़ चुके व्यक्तियों को जनजाति सूची से करना है बाहर- डॉ राजकिशोर ~~

डीलिस्टिंग के समर्थन में धार में समुदाय के लोगों का जनजाति सुरक्षा मंच के बैनर तले प्रदर्शन ~~

जिला मुख्यालय धार में हजारों की संख्या में एकजुट हुए आदिवासी अंचल से लोग ~~

धार ( डाँ.अशोक शास्त्री )

डीलिस्टिंग को लेकर एक बहुत बड़ा आंदोलन चल रहा है। डीलिस्टिंग से तात्पर्य है कि अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोग जिनका धर्म परिवर्तन कतिपय विधर्मी लोग लालच देकर या अन्य प्रलोभन से करते हैं। ऐसे लोग जो ईसाई या मुस्लिम धर्म अपना लेते हैं और फिर भी अनुसूचित जनजाति वर्ग के आरक्षण का लाभ लेते हैं। ऐसे लोगों को डीलिस्टिंग किया जाए। इससे वे आरक्षण से दूर हो सके। साथ ही जो योग्य और अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोग हैं। उनके आरक्षण के हक का नुकसान नहीं हो, इसलिए यह एक बहुत बड़ा आंदोलन चलाया जा रहा है। यह बात जनजाति सुरक्षा मंच के राष्ट्रीय संयोजक व मुख्य वक्ता डॉ राजकिशोर ने कही। उन्होंने कहा कि जनजाति समाज से अपनी रीति रिवाज, परंपराएं छोड़ चुके है, ऐसे व्यक्तियों को जनजाति सूची से बाहर करना है। संसद में ऐसा कानून पास करने के लिए पंचायत से संसद तक अभियान चलाया जाएगा।
अनुसूचित जनजाति के लोगों की रक्षा का समय-मच्छार
रविवार को जिला मुख्यालय के किला मैदान ग्राउंड पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य वक्ता रामप्रकाश मच्छार ने कहा कि आज का समय अनुसूचित जनजाति के लोगों की रक्षा का समय है। सुरक्षा मंच का उद्देश्य है, वह पूरा करने के लिए हमें एकजुट होना पड़ेगा। इस दौरान  शिवकुमारी बैनर सहित  पंडित कटारे, डूंगर सिंह बघेल ने भी अपने विचार रखे। मंच पर जनजाति सुरक्षा मंच के मध्यप्रदेश  संयोजक कैलाश निनामा, मंच के राष्टÑीय संगठन मंत्री सूर्यनारायण सूरी, क्षेत्र के संयोजक कालूसिंह मुजाल्दा, क्षेत्रीय अधिकारी प्रवीण ढोलके, श्री तिलक, क्षेत्रीय अधिकारी कैलाश आमलियार मौजूद थे। मुख्यालय पर निकाली रैली
रविवार को धार में डीलिस्टिंग को लेकर ऐतिहासिक महारैली का आयोजन किया गया। भीषण गर्मी के बावजूद इस विषय पर आदिवासी अंचल से बड़े पैमाने पर लोग कार्यक्रम के लिए एकत्रित हुए। इस दौरान जिला मुख्यालय पर प्रमुख मार्गों से रैली भी निकाली गई। इधर कार्यक्रम के मद्देनजर पानी, कोल्डिंÑग्स जैसे इंतजाम भी रखे गए है। अनेकों आदिवासी अपनी पारंपरिक वेशभूषा और तीर कमान के साथ शामिल हुए। 
मां शबरी के चित्र पर माल्यार्पण
कार्यक्रम में अतिथियों का स्वागत  अरविंद डावर, जयराम गावर, राजू एम सोलंकी, रणधीर अलावा, महेंद्र मेरती, कैलाश डावर, सुंदर चौहान, कपिल निनामा ने किया। कार्यक्रम का शुभारंभ मां शबरी के चित्र पर दीप प्रज्वलन और माल्यार्पण के साथ किया गया। कैलाश झाबा और उनके दल ने नृत्य की प्रस्तुति दी। नगर के प्रमुख मार्गों से महारैली निकली। जगह-जगह इसका स्वागत किया गया। पूरे शहर में भ्रमण के बाद यह रैली पुन: किला मैदान पहुंची। यहां इसका समापन हुआ। संचालन कपिल नीनामा ने किया। आभार संयोजक जिला संयोजक अरिवंद डाबर ने माना।


Share To:

Post A Comment: