खेतिया~दुर्घटना टैक्टर टूटकर दो हिस्सों में* ~~

खेतिया से राजेश नाहर~~

खेतिया सेंधवा मार्ग पर मेन्द्रना में स्थित शक्कर कारखाने के लिए गन्ना भरकर जा रही ट्राली ग्राम निसरपुर की पुलिया पर कल रात 8 बजे के लगभग  पलट गई। ट्रॉली के पिछे आ रहे गोपाल पिता दुधा पवार उम्र 40 वर्ष निवासी निसरपुर ट्रॉली के नीचे दब गया। जिसे ग्रामीणों ने बड़ी सूझबूझ से सुरक्षित निकाल कर सरकारी अस्पताल खेतिया लाए। जहां उपस्थित चिकित्सक डॉ अमन मोदी व स्वास्थ्य कमर्चारियों ने प्राथमिक उपचार कर रेफर कर दिया है,। वही ट्रैक्टर का ड्राइवर मौके से फरार हो गया । खेतिया पानसेमल मार्ग पर गन्ने की ट्राली की दुर्घटनाएं लगातार हो रही है। आज भी दुर्घटना इतनी भीषण है कि जहां ट्राली पुलिया के बीच पलट गई।जिससे दोनो और का आवागमन बन्द हो गया जिसमे गोपाल नीचे दब गया, बगैर नम्बर का यह ट्रैक्टर दो हिस्सों में बट गया। जिसमें ट्रैक्टर का इंजन अगले पहियों सहित पुलिया से नीचे जा गिरा व पिछले पहियों सहित पिछला हिस्सा पुलिया की रेलिंग पर अटक गया, ग्रामीणों ने क्रेन की मदद से बहुत ही सूझबूझ से गोपाल को सुरक्षित निकाला व सरकारी अस्पताल लेकर आए।अस्पताल द्वारा रेफर किये जाने पर उसे निकट शहादा लेजाया गया,परिजनों के मुताबिक उसे पैर व कमर में चोट आई है ।
पुलिया पर ट्रॉली पलटने से  पुलिया के दोनों और आवागम बन्द होने से लंबी लंबी दूर तक वाहनों की कतार लग गयी,,छोटे वाहन पुरानी पुलिया से चालको ने     घबराहट के साथ निकाले,, कुछ देर में खेतिया पुलिस ने क्रेन /JCBकी मदद से ट्रॉली को अलग कर सड़क से हटाया व पुलिया पर लटक रहे टेक्टर के पिछले हिस्से को हटा कर आवागमन प्रारम्भ कराया।
खेतिया पानसेमल के बीच गन्ने की ट्रॉली से पिछले ही माह भी दुर्घटना हुई व सड़क पर गन्ने की ट्रॉली व एक ही टेक्टर में जुगाड़ कर दो दो बैलगाड़ी ले जाने से कई बार दुर्घटना के शिकार आम जन हुए है।ग्रामीणों का मानना है कि गन्ने का परिवहन करने वाले अधिकतर ड्राइवर शराब के नशे में तेज गति से वाहन चलाते है जिससे दुर्घटना की सम्भवना बनी ही रहती है।ग्राम निसरपुर की पुलिया पर लंबे समय से बड़े  गड्ढे है जिससे कई बार छोटे वाहनों व मोटरसाइकिल का संतुलन बिगड़ता है। बड़े बड़े गढ्ढो से पहले भी हादसे हुए है वही कल हुई दुर्घटना के बाद ग्रामीणों ने पुलिया के निकट गति अवरोधक का निर्माण प्रारम्भ कर दिया।


Share To:

Post A Comment: