धार~ओबीसी आरक्षण खत्म करना चाहती है भाजपा, कांग्रेस चुनाव में घोषणा के अनुसार देगी  27 प्रतिशत का लाभ- बालमुकुंदसिंह गौतम ~

जिला कांग्रेस कार्यालय में पत्र परिषद् के दौरान कहा- कमलनाथ जी का धन्यवाद जिन्होंने पिछड़ा वर्ग के 14 प्रतिशत के आरक्षण को 27 प्रतिशत किया ~~

धार ( डाँ.अशोक शास्त्री )

पिछड़ा वर्ग आरक्षण के बगैर निकाय और पंचायत चुनाव कराने के सुप्रिम कोर्ट के आदेश के बाद कांग्रेस ने इस स्थिति के लिए भाजपा को जिम्मेदार बताया है। जिला कांग्रेस अध्यक्ष बालमुकुंदसिंह गौतम ने पत्र परिषद् में कहा कि प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने पिछड़ा वर्ग का आरक्षण 14 प्रतिशत से 27 प्रतिशत किया था। भाजपा सरकार ने अधूरी व भ्रामक जानकारियों के साथ कोर्ट में कमजोर पैरवी की। इसके कारण 27 प्रतिशत का आरक्षण समाप्त हो गया। भाजपा का लक्ष्य आरक्षण को समाप्त करना है। इसमें ओबीसी वर्ग के आरक्षण पर प्रयोग किया गया है। भाजपा का यह षड़यंत्र कांग्रेस सफल नहीं होने देगी। प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ जी ने 11 मई 2022 को स्पष्ट कहा है कि हम अपने नियत और वादे के अनुसार चुनावों में 27 प्रतिशत पिछड़ा वर्ग प्रत्याशियों को प्रतिनिधित्व देंगे। पत्र परिषद् में शहर कांग्रेस अध्यक्ष जसबीरसिंह छाबड़ा व जिला कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सोलंकी मौजूद थे।
सुको के फैसले के लिए भाजपा जिम्मेदार
जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री गौतम ने आरोप लगाया कि  सुप्रिम कोर्ट ने ओबीसी के आरक्षण के बिना चुनाव कराने का फैसला इसलिए किया क्योंकि मध्यप्रदेश की शिवराजसिंह चौहान सरकार ने अदालत के सामने ओबीसी के बारे में भ्रामक व आधे अधूरे तथ्य प्रस्तुत किए। श्री कमलनाथ जी ने राज्य सरकार से यह भी कहा कि   वह प्रस्ताव पारित कर केन्द्र सरकार से संविधान में संशोंधन करने का आग्रह करें ताकि अन्य पिछडा वर्ग के लोगों को उनका संवैधानिक अधिकार मिल सके।
भाजपा का आरक्षण विरोधी चरित्र है
श्री गौतम ने कहा कि पिछड़ा वर्ग के हित में कमलनाथ सरकार द्वारा उठाए गए ऐतिहासिक कदमों के लिए हम उनका आभार व्यक्त करते हैं। उन्होंने सामाजिक न्याय की नियत से 14 से पिछड़ा वर्ग का आरक्षण 27 प्रतिशत किया। भाजपा सिर्फ ओबीसी हितैषी होने का पाखंड कर रही है। वह ओबीसी आरक्षण को षड़यंत्र के तहत समाप्त करना चाहते है। भाजपा का वास्तविक चरित्र आरक्षण विरोधी है।  कांग्रेस ने सदैव पिछड़ा वर्ग के कल्याण के लिए कार्य किया है।   
हमने संविधान में संशोधन की मांग की
श्री गौतम ने कहा कि ओबीसी वर्ग के हक का आरक्षण उसे देने के लिए कमलनाथ जी ने राज्य सरकार से केन्द्र सरकार को संविधान में संशोधन करने और कानून पारित करने की मांग की है। भाजपा का ओबीसी वर्ग के विरुद्ध षड़यंत्र सफल नहीं होगा। भले ही आरक्षण समाप्त होने के बावजूद कांग्रेस पार्टी शानदार प्रदर्शन करेगी। अधिक से अधिक ओबीसी वर्ग से प्रतिनिधि चुनकर निकाय चुनाव में आएंगे। 


Share To:

Post A Comment: