धार~महाराणा प्रताप जयंती महोत्सव पर राजपूतों ने निकाला केसरिया बाना~~

जय राजपूताना संघ के दिखाया पराक्रम, 5 साल से 20 साल के युवाओं ने दिखाएं शौर्य के करतब~~

समाज के सभी वर्गों को साथ लेकर सौहार्द्र की नई मिसाल प्रस्तुत करें राजपूत- मंत्री दत्तीगांव~~

-कोरोना मे दिवंगतो  2 मिनट की मौन श्रद्धांजलि, 2 घंटे में तय की 5 किलोमीटर की शौर्य यात्रा ,~~

जगह जगह भारी स्वागत, संस्था जय हो, सर्व ब्राह्मण समाज ने किया भव्य स्वागत~~

धार ( डाँ.अशोक शास्त्री )।

मंगलवार को हजारों की संख्या में राजपूत समाज ने महाराणा प्रताप जयंती महोत्सव मनाया। सुबह मांडव रोड स्थित धर्मशाला से अद्भूत शौर्य यात्रा का शुभारंभ हुआ, जिसमें 5 से लेकर 90 वर्ष तक के राजपूत सरदार शामिल हुए। जय महाराणा प्रताप, जय भवानी के जय घोष से शहर के प्रमुख मार्ग, चौराहे गुंजायमान होते रहे। 50 से ज्यादा मचों से  स्वागत सत्कार भी हुआ।
महाराणा, भोज व बख्तारसिंह प्रतिमा पर किया माल्यार्पण
धार जिला राजपूत समाज के तत्वाधान में सुबह 10 बजे समंदर सिंह पटेल, लाखन सिंह पालाखेड़ी, जय राजपूताना संघ के शिवप्रताप रेटा, विजयसिंह राठौर, कल्याण सिंह पटेल, कमलेश्वर सिंह सिसौदिया, नवीन सिंह   चौहान आदि ने महाराणा प्रताप, राजा भोज, और राजा बख्तावर सिंह की प्रतिमा पर राजपूत युवाओं के साथ पहुंचकर माल्यार्पण किया। इसके बाद मांडव रोड स्थित धर्मशाला से शौर्य यात्रा का शुभारंभ हुआ। जिसमें अश्व पर सवार राजपूत सरदार, बग्गी में महाराणा प्रताप की आदम कद प्रतिमा सबका मन मोह रही थी। जैसे ही शौर्य यात्रा घोड़ा चौपाटी पहुंची तो यहां पर सैकड़ों की संख्या में राजपूताना संघ के माथे पर भगवा धारण की युवाओं ने आत्मीय स्वागत किया। यात्रा की शहर भर में अगुवानी करते हुए महाराणा प्रताप और जय भवानी की नारों से शहर को गुंजायमान कर दिया। यात्रा का घोड़ा चौपाटी, मोहन टॉकिज, नगर पालिका चौराहा, धानमंडी चौराहा, आनंद चौपाटी, नरसिंह चौपाटी राजवाड़ा, पौ चौपाटी सहित 50 से ज्यादा स्थानों पर अलग-अलग समाजों के साथ सर्व ब्राह्मण समाज , संस्था जय हो , कुलदीप बंदेला , विक्रम वर्मा ,ने स्वागत सत्कार किया।
विशाल सभा हुई, राजावत परिवार का किया सम्मान
मंगलवार को महाराणा प्रताप जयंती महोत्सव के अवसर पर शौर्य यात्रा के बाद समाज धर्मशाला के सामने मांडव रोड पर विशाल सभा का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश के उद्योग मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, पूर्व राजपूत समाज जिला अध्यक्ष जसवंत सिंह राठौड़, समंदर सिंह  उदावद, चंदन सिंह  सुनेर मानपुरा, धार जिला राजपूत समाज के अध्यक्ष निर्भय सिंह  बकसाना, फतेह सिंह  बादेडी, मोहन सिंह कुवसी, मोहन सिंह उज्जैन, भारत सिंह मंडलोई बिलोदा, कल्याण सिंह पटेल, राजेंद्र सिंह चौहान, मोहन सिंह परिहार, डॉ कमल सिंह चौहान, डॉ राजेंद्र सिंह सिसोदिया मौजूद थे। संचालन कमलेश्वर सिंह सिसौदिया ने किया। अतिथि परिचय निर्भय सिंह बकसाना ने दिया। आभार नवीन सिंह चौहान ने माना।  कार्यक्रम के अंत में बैडमिंटन खिलाड़ी प्रियांशु राजावत का विशेष उपलब्धि के लिए सभी अतिथियों के माध्यम से उनके पिता का स्वागत किया गया। कार्यक्रम में  जसवंत सिंह भाटी, आलोक सिंह राठौर, घनश्याम  कलम खेड़ी, भारत सिंह पटेल, गोपाल सिंह मंडलोई, घनश्याम सिंह सिसौदिया, संजय सिंह तवर कुलदीप सिंह तंवर आदि ने अतिथियों का स्वागत किया।
सभी को साथ लेकर चलना समाज का संस्कार
कार्यक्रम में सबसे पहले उद्बोधन जय राजपूताना संघ के शिव प्रताप सिंह रेटा ने दिया। उन्होंने राजपूत समाज के संस्कारों को जन-जन तक पहुंचाने की बात कही। समाज को मर्यादा का संदेश भी दिया। इसके बाद पूर्व विधायक पूर्व जिला राजपूत समाज अध्यक्ष जसवंत सिंह राठौड़ ने समाज को एक सूत्र में एकता के साथ आगे बढ़ने का संदेश दिया।  मुख्य अतिथि उद्योग मंत्री राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव ने कहा कि राजपूत युवाओं ने संस्कार की जो मर्यादा आज शहर में शौर्य यात्रा के दौरान पेश की है वह सराहनीय है। श्री दत्तीगांव ने कहा कि राजपूत समाज भेदभाव को भूलकर सर्व समाज के साथ एकता का नया संदेश देते आई है और इस मामले में हमेशा मिसाल पेश की है। सभी को साथ लेकर चलना राजपूत समाज का संस्कार है। श्री दत्तीगांव ने कहा कि समाज के लिए धर्मशाला का निर्माण बड़े स्तर पर अन्य स्थान और होना चाहिए, यह आज की आवश्यकता है। इसके लिए उन्होंने 11 लाख देने की घोषणा की। इसके बाद देखते ही देखते समाज के एक दर्जन से ज्यादा लोगों ने धर्मशाला निर्माण के लिए राशि देने की घोषणा की। 


Share To:

Post A Comment: