सीहोर~मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जीवन के सबसे महत्वपूर्ण पाणिग्रहण संस्कार में शामिल होकर 822 भांजे भांजियो को दिया आशीर्वाद ~~

नसरुल्लागंज से कन्हैया राठौर की रिपोर्ट~~


सीहोर जिले के नसरुल्लागंज तहसील के जनजातीय बहुल्य गांव पिपलानी में 310 गोंड एवं 101 कोरकू समाज के जोड़ो का मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में निःशुल्क विवाह संपन्न हुआ

जनजातीय भाषा और संस्कृति के संरक्षण के लिए सरकार हर संभव प्रयास करेगी – मुख्यमंत्री श्री चौहान

जनजातीय समूह के शिक्षा, स्वास्थ्य, आवास सहित हर मोड़ पर सरकार साथ

  बेटियों की शादी में खुद का स्वागत नहीं करवाता, मैं तो वर-वधु अपने बेटे बेटियों का स्वागत करने आया हूँ। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पिपलानी गांव में आयोजित मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम में स्वयं का स्वागत करने आए स्थानीय जनप्रतिनिधियों को रोककर कही। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सामूहिक विवाह कार्यक्रम में पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान पिपलानी में आयोजित गोंड समाज तथा कोरकू को समाज के विवाह सम्मेलन में पहुंचकर वर-वधू को आशीर्वाद प्रदान किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कन्या विवाह योजना को अब और अधिक उपयोगी बनाने के लिए राशि बढ़ाकर 55 हज़ार कर दिया गया हैं। जिससे विवाह के आयोजन से लेकर गृहस्थी की जरूरत का लगभग पूरा सामान नव विवाहित जोड़े को दिया जा सके। वधु के खाते में 11 हज़ार रुपए कि राशि भी डाली जाती हैं ताकि कोई जरुरत की चीज़ छूट भी गयी हो तो ली जा सके। उन्होंने कहा कि इस योजना का उद्देश्य गरीब परिवार की बेटियों की शादियों की चिंता दूर कर बिना ऋण लिए धूम-धाम से ख़ुशी-ख़ुशी विवाह करना हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बेटियों को आशीर्वाद देते हुए कहा कि हमेशा खुश रहो चेहरे पर मुस्कान बनी रहे पैर में कभी काँटा न लगना पाए सभी बेटियां अपने दोनो परिवारों का ध्यान रखे। साथ ही बेटियों को प्यार और सम्मान से रखने के लिए दूल्हों से आग्रह भी किया। बेटियों की विदाई के समय घर से दूर जाने की बात से भाव विभोर होकर प्रसिद्ध गीत बाबुल की दुयाए लेती जा गाकर आशीर्वाद दिया।

जनजातीय समाज को सशक्त बनाने के लिए और अधिक अधिकार दिए जायेंगे

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जनजातीय समाज को और अधिक सशक्त बनाने के लिए इनके वनों पर अधिकार बढ़ाये जायेंगे साथ ही अन्य योजनाओ के माध्यम से चौतरफा विकास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इमारती लड़की के विक्रय पर 20 प्रतिशत राशि स्थानीय वन समितियों को मिलेगी। तेंदुपत्ता की प्रति 100 गड्डी संग्रहण की राशि 250 रूपये से बढाकर 300 रूपये की गयी हैं। जनजातियों के हित में पेसा एक्ट लागू करने का निर्णय लिया गया हैं। सामाजिक वन प्रवंधन का कार्य जनजातीय समूहों को दिया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जनजातीय समूहों के बेटे-बेटियों का विवाह के अलावा उच्च शिक्षा का खर्च आवास, राशन, स्वस्थ्य सहित जिन्दगी की हर मोड़ पर मामा साथ देंगे।


जनजातीय भाषा एवं संस्कृति का संरक्षण किया जायेगा

मंड़ला सांसद सुश्री संपतिया उइके द्वारा पारसी भाषा में सम्बोधन से प्रभावित होकर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जनजातीय भाषा एवं संस्कृति के संरक्षण के लिए सरकार सभी प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि अपनी भाषा एवं संस्कृति को कभी न छोड़े यह एक सम्मान की बात हैं।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 10 बेटियों को सांकेतिक तौर पर 11 हज़ार रूपये का चेक भेट किया। उन्होंने नव दम्पत्तियों को प्रदेश सरकार की ओर से 32 इंच का एलईडी टीवी, एक टेबल फेन, 51 बर्तन, पलंग बिस्तर, दुल्हन के कपड़े, श्रृंगार का सामान और चांदी के आभूषण सामान दिया। कार्यक्रम में पुरे प्रदेश के जनजातीय क्षेत्रों से आये जनप्रतिनिधियो ने शिरकत की।

मनमोहक सांस्कृतिक प्रस्तुतियां

सामूहिक विवाह सम्मलेन में बैतुल तथा महाराष्ट्र से आये सांस्कृतिक दल की आकर्षक नृत्य प्रस्तुति ने उपस्थित जनसमूहों का मन मोह लिया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दोनों सांस्कृतिक दलों को 25 - 25 हज़ार रूपये देने की घोषणा की। इसके अलावा मंड़ला संसद सुश्री संपतिया उइके ने भी सांस्कृतिक दलों को 10 हज़ार रूपये देने की घोषणा की।

प्रतिभावान बच्चों को किया सम्मानित

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कक्षा 10 वीं और 12 वीं में प्रथम श्रेंणी प्राप्त 49 जनजातीय छात्र-छात्राओ को प्रशस्ति पत्र एवं ट्रॉफी प्रदान की जिनमें प्रवीण्य सूची के 06 छात्र-छात्राएं भी शामिल हैं।

कार्यक्रम में 50 हज़ार से अधिक बाराती और बरातियों ने मिलकर सामूहिक विवाह सम्मेलन को भव्य एवं अद्भुत बनाया, कन्या पूजन से प्रारंभ सामूहिक विवाह बेटी की विदाई के साथ संपन्न हुआ।

कार्यक्रम में खाद्य मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह, मंड़ला विधायक सुश्री संपतिया उइके, विदिशा सांसद श्री रमाकांत भार्गव ने भी संबोधित किया।

यह थे उपस्थित

कार्यक्रम में श्री सुरेन्द्र सिंह सोलंकी, पशुपालन मंत्री श्री प्रेम सिंह पटेल, पूर्व मंत्री श्री ओमप्रकाश धुर्वे, श्री गुरुप्रसाद शर्मा, श्री राजेंद्र सिंह राजपूत, भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रवि मालवीय, श्री देवी सिंह  धुर्वे, जनपद अध्यक्ष श्रीमती दुलारी धुर्वे, श्री पर्वत सिंह उइके, हनुमत सिंह नागवेल, हरि सिंह देवड़ा, विष्णु प्रसाद सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।


Share To:

Post A Comment: