नसरुल्लागंज~मुख्यमंत्री के क्षेत्र में मजदूरों को किया बेरोजगार~~

नसरुल्लागंज से कन्हैया राठौर की रिपोर्ट~~

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने ही गृह क्षेत्र में मजदूरों को मजदूरी करने से वंचित करते नजर आ रहे हैं माइनिंग के अधिकारी मां नर्मदा के किनारे अपनी किश्ती नाव चलाकार जीवन यापन कर रहे हैं वहीं माइनिंग के आला अधिकारी रात दिन इन छोटे गरीब लोगों को परेशान कर खानापूर्ति कर रहे हैं क्योंकि अधिकारी अपना वर्चस्व कैसे जमाए हुए हैं जेसे इनसे कोई कहने सुनने वाला ही नहीं है वहीं दूसरी ओर देखा जाए तो छिपानेर में अवैध खनन धड़ल्ले से चल रहा है वहां पर माइनिंग के अधिकारी नहीं पहुंचते हैं जबकि स्वीकृत खदानों पर मजदूरों को कार्य करने से वंचित किया जा रहा है नर्मदा के किनारे इनका कोई रोजगार नहीं है यह अपना जीवन मां नर्मदा की रेत निकाल कर करते हैं कुछ मजदूरी 400-500 प्रतिदिन के हिसाब से कमाकर अपने बच्चों का पेट भरते हैं मगर माइनिंग के अधिकारी इनके बच्चों के मुंह का निवाला छीन ते नजर आय वही मजदूरों ने मुख्यमंत्री को एक ज्ञापन भी दिया मुख्यमंत्री ने आश्वासन देकर अधिकारियों पर कार्रवाई करने का मन भी बना लीया है अगर सही पूछा जाए तो छिपानेर अवैध खदान से देवास जिले की परम रेत एजेंसी धड़ल्ले से रेत का परिवहन कर रही है


Share To:

Post A Comment: