खेतिया~लोक अदालत से न सिर्फ केस समाप्त होते हैं वही दोनों पक्षों के बीच की कटुता भी समाप्त होती है न्यायाधीश श्री अजय उइके* ~~

खेतिया,,,,नालसा नई दिल्ली,मप्र उच्च न्यायालय व मप्र विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश व जिला एवं सत्र न्यायाधीश मा0श्री ,,आनन्द कुमार तिवारी जी  व विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री अमितसिंह सिसोदिया के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन न्यायालय परिसर खेतिया में किया गया ।
मां सरस्वती के चित्र पर पूजन अर्चन कर लोक अदालत का शुभारंभ करते हुए खेतिया न्यायालय के न्यायाधीश माननीय श्री अजय उइके ने कहा कि लोक अदालत के माध्यम से सरल व सुगम तरीके से न्याय प्राप्त किया जा सकता है वही दोनों पक्षों के बीच की कटुता समाप्त होती है,दोनो ही पक्षों की जीत होती है जिससे वह जीवन भर एक साथ रह पाते। लोक अदालत एक सशक्त माध्यम है और इसका लाभ सभी को लेना चाहिए। लोक अदालत के शुभारंभ के अवसर पर  तहसीलदार राकेश सस्तिया, अतिरिक्त तहसीलदार हुक़ूमसिंग निंगवाल सीएमओ पानसेमल शिवजी आर्य,खेतिया सीएमओ यशवंत शुक्ला, अभिभाषक संघ के अध्यक्ष विकास राव शितोले,खण्डपीठ के सदस्य अभिभाषक कपिल शाह,अभिभाषक मनोज वर्मा ,पंडित जी सहितन्यायालय कर्मचारी ,पैरा लीगल वलियंटर्स उपस्थित थे
आज संपन्न लोक अदालत 13 में से चार दीवानी प्रकरणों का निराकरण हुआ जिससे 14 लोग लाभान्वित हुए,सेटलमेंट राशि₹-988611,
आपराधिक प्रकरण 44 में से7 निराकृत हुए जिससे 14 लोग लाभान्वित हुए,चेक बाउंस के 25 प्रकरणों मेसे4सेटेलमेंट राशि 67178 निराकृत हुए जिससे 8 लोग लाभान्वित होकर ₹-515139/-बैंक,अनय  3 प्रकरण रखे गये, जिनमे से 3 निराकृत 6 लाभांवित सहकारी समिति, नप व अन्य के 268 मेसे 99 निराकरण होने के साथ205 लोग लाभान्वित हुए₹-1492060/-की वसूली हो सकी


Share To:

Post A Comment: