धार~मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के पहले शनिदेव प्रतिमा को कराया नगर भ्रमण ~~

जिले के अलग-अलग धर्म स्थलों से शामिल हुए साधु-संत, दर्जनों मंचों से शोभायात्रा का स्वागत ~~

केसरिया ध्वजों के साथ, जय शनिदेव, जयश्री के नारे लगाते हुए निकले श्रद्धालु ~~

धार ( डाँ.अशोक शास्त्री )।

शहर के नौगांव क्षेत्र में सोमवार को शनि जयंती पर भगवान श्री शनि देव की प्रतिमा की नवीन मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा होने वाली है। इसके पूर्व रविवार को हनुमान चौक नौगांव से भगवान शनि देव की प्रतिमा को सुसज्जित बग्घी में विराजित कर शोभायात्रा के माध्यम से नगर भ्रमण कराया गया।  इस दौरान हजारों की संख्या में नौगांव क्षेत्र के लोग और शनि भक्त नगर भ्रमण में मौजूद रहे। शहर में दर्जनों मंचों से भगवान की शोभायात्रा का पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। यात्रा में भजनों की धून पर महिलाओं ने नृत्य किया। वहीं युवाओं ने जय शनिदेव, जय-जय सियाराम के नारे लगाए।
शोभायात्रा में साधु-संत हुए शामिल
रविवार को नौगांव से प्रारंभ हुई शोभायात्रा ने पहले क्षेत्र के प्रमुख मार्ग लक्ष्मीनारायण मंदिर, लालबाई फूलबाई माता मंदिर, सार्इं मंदिर, झंडा चौपाटी, तेलीवाड़ा, तुलसी मंदिर, डाबरी क्षेत्र का भ्रमण किया। इसके पश्चात यात्रा शहर के हटवाड़ा चौक से मोहन टॉकिज होते हुए धानमंडी, आनंद चौपाटी से पुन: हटवाड़ा होते हुए कार्यक्रम स्थल पर पहुंची। यात्रा में जिले के अलग-अलग धर्म स्थलों से साधु-संत शामिल हुए। केसरिया ध्वजों को लेकर युवक अश्व पर सवार होकर भगवान के रथ के आगे सैनिकों की तरह चले। वहीं केसरिया दुपट्टे धारण किए गए महिला-पुरुष भक्ति गीतों पर नृत्य कर रहे थे। करीब 1 दर्जन से अधिक मंचों से यात्रा का पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया।
आज पूर्णाहुति के साथ भंडारा
भगवान श्री शनिदेव की प्रतिमा प्राण प्रतिष्ठा के तहत पिछले 7 दिनों से धार्मिक अनुष्ठान किए जा रहे है। यज्ञाचार्यों द्वारा यज्ञ संपन्न कराया जा रहा है। वहीं भागवत कथा का पाठ हो रहा है। 30 मई सोमवार को यज्ञ की पूर्णाहुति होगी वहीं श्रीमद् भागवत कथा पाठ का समापन होगा। मंदिर में भगवान की प्राण प्रतिष्ठा के पश्चात भंडारे का आयोजन किया गया है। उल्लेखनीय है कि नौगांव क्षेत्र में सर्व समाज के लोगों ने आपसी सहभागिता से मंदिर निर्माण एवं प्राण प्रतिष्ठा का कार्य किया है।


Share To:

Post A Comment: