धार~3 पलटी खाई 50 फीट घसीटता गया वाहन, सवार 16 लोगों में बच्चों को चोंट नहीं, बड़ों को मामूली फे्रक्चर ~~

महाराष्ट्र से गढ़कालिका माता दर्शन के लिए धार आया था परिवार, मंदिर से 5 किमी पहले हुआ हादसा ~~

पिकअप लोडिंग वाहन में सवार होकर आया था परिवार, ड्रायवर बोला दुपहिया वाहन चालक को बचाने में अनियंत्रित हुई गाड़ी ~~

प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा तेज रफ्तार के कारण खोया नियंत्रण, रात में महाराष्ट्र से चला सुबह पहुंचा धार ~~

धार ( डॉ. अशोक शास्त्री )।

कुलदेवी गढ़ कालिका माता के दर्शन के लिए महाराष्ट्र से धार पहुंचे 16 सदस्यीय परिवार का वाहन सुबह हादसे का शिकार हो गया। अच्छी बात यह रही कि 3 पलटी खाने और 50 फीट तक वाहन घसीटते हुए जाने के बाद भी वाहन में सवार किसी की भी जान नहीं गई। इस वाहन में बच्चे भी सवार थे, जिन्हें चोंट नहीं आई। वहीं कुछ महिलाओं को हाथ-पैर में फ्रेक्चर हुए है। वाहन दुर्घटना में ड्रायवर भी चोटिल नहीं हुआ है। घायल लोग इसे देवी का ही आशीर्वाद मान रहे हैं। सुबह हुए हादसे के बाद घायलों को जिला अस्पताल लाया गया, जहां परिजन हादसे से बदहवास नजर आए। घटना की सूचना पर सिविल सर्जन डॉ मालवीय मौके पर पहुंच गए और घायलों को उपचार के साथ ढांढस बंधाया।
दुर्घटना के कारण अलग-अलग
शुक्रवार सुबह गढ़ कालिका माता मंदिर करीब 5 किलोमीटर पहले मांडू रोड स्थित पुलिस लाईन के सामने लोडिंग वाहन पिकअप क्रमांक एमएच 41 एयू 4812 दुर्घटनाग्रस्त हो गया। सुबह हुए हादसे के बाद मौके पर चीख-पुकार शुरु हो गई। वाहन सवारों को ज्यादा चोंटे नहीं थी, लेकिन अचानक हुए हादसे ने उन्हें बदहवास कर दिया। महाराष्ट्र के मालेगांव का पंवार परिवार धार स्थित अपनी कुलदेवी के दर्शन के लिए आया था। इधर दुर्घटना को लेकर अलग-अलग कारण बताए जा रहे है। ड्रायवर ने बताया कि दुपहिया वाहन को बचाने के चक्कर में वाहन अनियंत्रित हुआ। वहीं प्रत्यक्षदर्शियों को कहना था कि वाहन की रफ्तार तेज थी जिससे वह अनियंत्रित होकर पलटी खा गया। पंवार परिवार गुरुवार शाम को मालेगांव से निकला था और सतत सफर करते हुए धार सुबह पहुंच गया था।
एक व्यक्ति वाहन के नीचे दबा
लोडिंग वाहन पलटी खाने से एक व्यक्ति वाहन के नीचे दब गया था। जिसे   राहगीरों ने निकाला। इधर अलसुबह हुई दुर्घटना में एक साथ 16 घायलों के अस्पताल पहुंचने से अस्पताल में भी हड़कम्प मच गया। ताबड़तोड़ मरीजों को अलग-अलग वार्डों में लेटाकर उपचार किया गया। इस हादसे ने एक बार फिर जिला अस्पताल की कमियों को सामने ला दिया है। दरअसल जब 16 लोगों को एक साथ अस्पताल ले जाया गया तो पलंग कम पड़ गए। चिकित्सकों का कहना है कि अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या अधिक होने के कारण इस की स्थिति बनी है। हालात यह रहे कि कुछ घायलों को चिल्ड्रन वार्ड में भी रखा गया।  
यह हुए हादसे में घायल
पिकअप वाहन पलटने से हुए हादसे मे सालदाबाई उम्र 40 वर्ष, सुनील उम्र 12, सचिन उम्र 36 वर्ष, प्रिय उम्र 13 वर्ष, संगीता उम्र 37 वर्ष, बाघेश्वरी उम्र 18 वर्ष, अश्विन उम्र 35, इमली बाई 50 वर्ष, मोलिया 50 वर्ष, कमलाबाई 50 वर्ष, मायावती 32 वर्ष,  भीमा 50 वर्ष, निशा 27 साल, सरला 45 वर्ष, योगेश 45 वर्ष, जयश्री 17 वर्ष घायल हुए है। 


Share To:

Post A Comment: