*एक्सक्लुसिव~~

*बचपन के साथी बने हज के साथी.*~~

बाकानेर सैयद अखलाकअली~~

कितनी खुशी होती है, और फ़ख्र महसूस होता है जब कोई कहता है हम हज पर जा रहै हैं, ज़िन्दगी भर की जमा पूंजी अपने मुकद्दस सफ़र में सर्फ कर जो सुकून मिलता है उसका तो क्या कहना, इस साल हज के लिये जिनका इंतखाब हुआ है यक़ीनन बड़े खुशनसीब हैं वो लोग, कोरोना वबा के बाद सफर-ए-हज की शुरुआत तो हुई लेकिन मौका कम लोगों को मिला, जिन्हें मिला वो बड़े नसीब वाले हैं, ख्वाब सच हो जाते हैं हर दुआ काम आती है,

मध्यप्रदेश के बड़वानी ज़िलें के तीन दोस्तों का उस वक्त खुशी का ठिकाना नही रहा जब उन्हें आपस मे पता चला कि तीनों का हज के लिये इंतखाब हो गया है जबकि तीनों ने एक दूसरे को बताए बगैर हज-2022 के लिये दरख़्वास्त दी थी, 30-35 साल का लंबा साथ, साथ पढ़े, साथ खेले और अल्लाह ने मुकद्दस हज का भी उन्हें साथी बना दिया, बड़वानी ज़िले के रहवासी जान मोहम्मद,सलीम जिंद्रान और रियाज़ खान ने अपनी-अपनी अहलिया के साथ हज पर जाने का इरादा किया और कोटा कम होने के बावजूद उन्हें हज पर जाने का मौका फ़राहम हो गया, ऐसा भी कम होता है क्योंकि ड्रा में कुछ लोग रुक जाते हैं कुछ कामयाब हो जाते हैं, बड़वानी ज़िलें के तीनों दोस्तों का एक ही साल में हज के लिये सिलेक्शन हैरत और खुशी की बात है,

जान मोहम्मद बताते हैं हम तीनों ने मिडिल से हायर सेकंडरी तक की पढ़ाई साथ की, हमारा गहरा दोस्ताना है, सभी अपने-अपने काम धंधों में मसरूफ हैं लेकिन अक्सर वक्त निकालकर सभी इकट्ठा हो जाते हैं, एक दूसरे के साथ मिल बैठ बचपन की याद ताज़ा हो जाती है, हज पर साथ जाने का हुआ तो और खुशी हुई, हज की तैयारी हमने साथ-साथ की, घर की औरतों को भी एक-दूसरे से हिम्मत है 6 लोगों का यह ग्रुप दीगर हाजियों के साथ 27 जून को मुम्बई से जद्दा के लिये सुबह 9.40 की फ्लाइट्स से रवाना होगा। फौजियों को मुबारकबाद वरिष्ठ समाजसेवी सादिक चंदेरी, मोहम्मद आरिफ इकरा प्रेस क्लब आफ वर्किंग जर्नलिस्ट प्रदेश उपाध्यक्ष सैयद रिजवान अली अधिमान्य पत्रकार मध्यप्रदेश शासन सैयद अरशद अली ने देते हुए कहा मदीने वाले को हमारा सलाम कहना। उक्त जानकारी
मुकीत खान
चैयरमेन- ऑल इण्डिया हज वेलफेयर सोसायटी ने दी।


Share To:

Post A Comment: