भोपाल~मध्य प्रदेश सरकार ने चार लाख मुआवजा महाराष्ट्र सरकार ने 10 लाख मुआवजा केंद्र सरकार ने दो लाख मुआवजा प्रत्येक मृतक के परिवार को देने की घोषणा की~~


भोपाल सय्यद रिजवान अली~~

मध्य प्रदेश के धार जिले में सोमवार सुबह इंदौर खरगोन के बीच भीषण हादसा हो गया बस इंदौर से महाराष्ट्र के अमलनेर जा रही थी बस धामनोद में खलघाट के पास उफनती नर्मदा नदी में गिर गई 10:00 से 10:15 बजे के बीच खलघाट में 2 लेन पुल पर किसी वाहन को ओवरटेक करते समय बस बेकाबू हो गई ड्राइवर ने संतुलन खो दिया और रेलिंग तोड़ते हुए बस नदी में जा गिरी बस में महिलाओं बच्चों समेत 40 यात्री सवार थे समाचार लिखे जाने तक तक 13 शव निकाले जा चुके हैं इनमें 8 पुरुष 4 महिलाएं और एक बच्चा शामिल है । घटनास्थल पर मौजूद एंबुलेंस के ड्राइवर ने बताया कि अभी तक एक भी यात्री जीवित नहीं मिला है हादसे की जानकारी लगते ही खलघाट सहित आसपास के  सभी समाज के लोग मौके पर पहुंच गए इंदौर और धार से एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची यह पुल पुराना बताया जा रहा है बस महाराष्ट्र राज्य परिवहन की है मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना को संज्ञान में लेते हुए प्रशासन को बचाव और राहत कार्य के आदेश दिए हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कहा मध्य प्रदेश के धार में हुआ बस हादसा दुखद है मेरी संवेदनाएं उनके साथ हैं जिन्होंने अपनों को खोया है, महाराष्ट्र मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने भी दुख जताया। बचाव कार्य जारी है और स्थानीय अधिकारी प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान कर रहे हैं


सीएम शिवराज सिंह चौहानने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से बात की मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से फोन पर चर्चा की बस हादसे की जानकारी देते हुए कहा कि सभी शवों को सम्मान के साथ महाराष्ट्र भेजेंगे  उन्हें प्रशासन के प्रयासों से अवगत कराया मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री कमल पटेल को घटनास्थल पर भेजने की जानकारी दी


हादसा आगरा मुंबई एबी रोड हाईवे पर हुआ यह रोड इंदौर से महाराष्ट्र को जोड़ता है घटनास्थल इंदौर से 80 किलोमीटर दूर है, धरमपुरी तहसील मुख्यालय से 12 किलोमीटर दूर, जिस संजय सेतु पुल से बस गिरी वह दो जिला धार और खरगोन की सीमा पर बना है पुल का आधा हिस्सा खलघाट धार और आधा हिस्सा खलटका के खरगोन में है खरगोन , और धार से भी कलेक्टर और एसपी भी मौके पर पहुंचे।

खलघाट टोल नाके की हाईवे एंबुलेंस के ड्राइवर श्री कृष्ण वर्मा ने बताया मैं ड्यूटी पर था सुबह 10:03 बजे कंट्रोल रूम से कॉल आया सूचना मिली कि पुल से एक बस नर्मदा नदी में गिर गई है सूचना मिलने के करीब 3 मिनट के भीतर घटनास्थल पर पहुंच गया था बस नदी में गिरी हुई थी तत्काल रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया नदी से अब तक एक भी व्यक्ति जीवित या घायल नहीं निकाला जा सका है बस को नदी से निकाल लिया गया है
बस दुर्घटना के पूर्व  होटल में रुकी थी,
होटल मालिक  ने बताया  कि बस mh 40 n 9848 सुबह 9:00 से 9.15 बजे खलघाट से 12 किलोमीटर पहले दूधी बाईपास किनारे एक होटल पर रुकी थी होटल मालिक ने बताया कि यहां 12/15 यात्रियों ने चाय नाश्ता किया बाकी सवारी अंदर बैठी थी अंदर कितनी सवारी है तो पता नहीं लेकिन संभावित बस में 30 से 35 सवारी होगी यह बस इंदौर से अमलनेर जा रही थी

प्राप्त जानकारी के अनुसार
अमलनेर के नायब तहसीलदार पंकज कुमार जाट ने बताया कि अभी यहां  कोई क्लेम करने नहीं आया है हम लगातार खरगोन और धार के अधिकारियों के संपर्क में है अभी तक कोई भी व्यक्ति यहां पूछताछ के लिए नहीं आया है।
दुर्घटनाग्रस्त हुई महाराष्ट्र सड़क परिवहन बस 10 साल से अधिक पुरानी थी और इसका फिटनेस प्रमाण पत्र लगभग 10 दिनों में समाप्त होने वाला था, आरटीओ अधिकारियों ने कहा। मध्य प्रदेश के धार जिले में सोमवार को महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (MSRTC) की बस के नर्मदा नदी में गिरने से कम से कम 13 यात्रियों की मौत हो गई। उन्होंने कहा कि बस धार और खरगोन सीमा के पास स्थित राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 3 (आगरा-मुंबई रोड) पर एक पुल की रेलिंग तोड़कर नदी में गिर गई। MSRTC के अधिकारियों ने कहा कि बस सुबह एमपी के इंदौर शहर से निकली और महाराष्ट्र के जलगांव जिले की ओर जा रही थी। आरटीओ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बस को 12 जून 2012 को नागपुर ग्रामीण क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय में पंजीकृत किया गया था और इसका प्रमाण पत्र, जिसका अर्थ है कि वाहन सड़क पर चलने योग्य है, 27 जुलाई, 2022 को समाप्त होने वाला था। उन्होंने कहा कि इसका प्रदूषण नियंत्रण (पीयूसी) प्रमाणपत्र और बीमा वैध है। एमएसआरटीसी ने बताया कि चंद्रकांत एकनाथ पाटिल बस चला रहे थे और प्रकाश श्रवण चौधरी कंडक्टर थे। MSRTC के जनसंपर्क विभाग के अनुसार, बस मध्य प्रदेश के इंदौर से सुबह लगभग 7.30 बजे रवाना हुई और महाराष्ट्र के जलगांव जिले के अमलनेर जा रही थी, जब यह मध्य प्रदेश में खलघाट और थिगरी के बीच नदी पर एक पुल पर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। . MSRTC ने नागरिकों के लिए एक हेल्पलाइन भी स्थापित की है और वे दुर्घटना के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए 022-23023940 डायल कर सकते हैं। नर्मदा नदी बस दुर्घटना
मृतकों की पहचान शिनाख्त

1.चेतन पिता राम गोपाल जांगिड़ निवासी नांगल कला गोविंदगढ़ जयपुर राजस्थान
2.जगन्नाथ पिता हेमराज जोशी उम्र 70 साल निवासी मल्हारगढ़ उदयपुर राजस्थान
3.प्रकाश पिता श्रवण चौधरी उम्र 40 साल निवासी शारदा कॉलोनी अमलनेर जलगांव महाराष्ट्र
4.नीबाजी पिता आनंदा पाटिल उम्र 60 साल निवासी पीलोदा अमलनेरगां
5. कल्पना पति गुलाबराव पाटिल उम्र 57 साल निवासी बेटावद अमलनेर जलगांव महाराष्ट्र
6.चंद्रकांत पिता एकनाथ पाटील उम्र 45 साल निवासी अमलनेर जलगांव (उपरोक्त 1 से 6 तक के मृतक की पहचान आधार कार्ड से की गई )
7.श्रीमती अरवा पति मुर्तजा बोरा उम्र 27 साल निवासी मूर्तिजापुर अकोला महाराष्ट्र परिजन द्वारा पहचान
8.सैफुद्दीन पिता अब्बास निवासी नूरानी नगर इंदौर परिजन द्वारा
9 राजू पिता तुलसीराम मोर निवासी रावतभाटा तहसील चित्तौड़गढ़ राजस्थान की  पहचान हो चुकी है,
10.विशाल पिता सतीश बहरे उम्र 33 साल निवासी विर्देल जिला धुले महाराष्ट्र की पहचान हो गई,
11.अविनाश पिता संजय परदेसी निवासी पाटन सराय जिला अमलनेर महाराष्ट्र की पहचान हो गई है सूत्रों के हवाले समाचार लिखे जाने तक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मृतक के परिवार को चार लाख मुआवजा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने मृतक को दस लाख रुपए और भारत सरकार की तरफ से मृतक के परिवार को दो लाख की मौजूद देने की घोषणा की गई । बचाव और राहत का कार्य देर रात तक जारी रहा बस को निकाल लिया गया। धरमपुरी विधायक पाची लाल मीणा मनावर विधायक डॉ हीरालाल अलावा धार महू लोकसभा सांसद छतर सिंह दरबार, ने घटना पर दुख व्यक्त किया और मृतकों को श्रद्धांजलि अर्पित की।


Share To:

Post A Comment: