धार~यह गलत है- धमकाने से लेकर फर्जी मैसेज वायरल करके चुनाव जीतने की साजिश ~~

वोटों का धार्मिक आधार पर धु्रविकरण करने के लिए वॉट्सअप का फर्जी मैसेज बनाकर किया वायरल, कांग्रेस ने दिया जांच के लिए पुलिस में आवेदन ~~

जिपं वार्ड 14 में भाजपा गुटों में बंटी, विधायक ने बनाई दूरियां ना निर्भय का समर्थन ना ही अन्य मैदान में डटे पार्टी के नेताओं का विरोध ~~

हाईप्रोफाईल सीट वार्ड 14 में 2 प्रत्याशियों के समर्थकों में विवाद, दोनों पक्ष पर एफआईआर दर्ज~~

आज अंतिम चरण का मतदान, 5 जिला पंचायत क्षेत्रों में विवाद की आशंका, जिपं वार्ड 14 और 10 के चुनाव टसल के हुए ~`

धार ( डॉ. अशोक शास्त्री )।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तहत अंतिम चरण का मतदान आज 8 जुलाई शुक्रवार को संपन्न होगा। अभी तक के 2 चरणों के चुनाव में मतदान शांतिपूर्ण संपन्न हुआ है। तीसरे चरण के चुनाव में जिला पंचायत के कुछ वार्ड मतदान के एक दिन पूर्व से प्रारंभ हुए विवाद और राजनैतिक साजिशों के चलते संवेदनशील हो गए हैं। इसमें हाईप्रोफाईल सीट वार्ड क्रमांक 14 सहित क्रमांक 10 और तिरला का वार्ड क्रमांक 12 शामिल है। वार्ड 14 में मतदान के 1 दिन पूर्व निर्दलीय प्रत्याशी और कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थकों में कहा-सुनी हुई है। दोनों पक्षों की रिपोर्ट पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया है। फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। इधर इसी वार्ड में धार्मिक आधार पर वोटों का धु्रविकरण करने की कोशिशों के तहत फर्जी मैसेज बनाकर वायरल किया गया है। इसकी शिकायत कांग्रेस प्रत्याशी मनोजसिंह गौतम ने निर्वाचन शाखा सहित पुलिस को की है।
करीब पौने 5 लाख वोटर डालेंगे वोट
कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ पंकज जैन तथा पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन के तृतीय चरण अंतर्गत जिले के धार, नालछा, तिरला तथा सरदारपुर ब्लॉक में होने वाले मतदान के संबंध में नालछा के ग्राम दिग्ठान, नारायणपुर, बिल्लोद, पिपल्या, खंडवा तथा सरदारपुर के ग्राम बरमंडल आदि ग्रामों में बने मतदान केंद्रों का अवलोकन गुरुवार को किया।  तीसरे चरण में 4 लाख 76 हजार 569 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इस दौरान  266 ग्राम पंचायतों के लिए भी निर्वाचन होगा। इन पंचायतों से जुड़े कुल 652 ग्रामों में 865 मतदान केन्द्र बनाए गए है। 952 मतदान दल और 66 सेक्टर आॅफिसर मतदान कार्य में जुटेंगे। 10 जिला पंचायतों के वार्डों सहित जनपद के 77 वार्ड और 252 पंचायतों के लिए पंच-सरपंच चुने जाएंगे। 
200 का अतिरिक्त बल मिला
प्रशासन की तैयारियों के अनुसार तीसरे चरण के चुनाव वाले प्रत्येक बूथ पर एक एसएफ के जवान के साथ पुलिसकर्मी तैनात रहेगा। इसके साथ ही 66 सेक्टर प्रभारी सहित 98 मोबाइल टीमें लगातार भ्रमण करेगी। चुनाव को लेकर 200 पुलिसकर्मियों का अतिरिक्त बल भी धार को मिला है। इसके साथ ही जिले का पुलिस बल, वन विभाग, आबकारी विभाग सहित मंडी इंस्पेक्टरों की डयूटी भी सुरक्षा की दृष्टि से लगाई गई है। इस तरह से निर्वाचन के लिए तैनात कमर्चारियों के साथ सुरक्षा को लेकर 1500 का बल उपलब्ध रहेगा। प्रत्येक जनपद क्षेत्र में रिजर्व पुलिस बल भी रहेगा, जो सूचना मिलने के 8 मिनट के अंतराल में ही मौके पर पहुंचेगा।  
14-15 को होंगे परिणाम घोषित
अंतिम चरण का निर्वाचन प्रक्रिया संपन्न होने के बाद  परिणामों की घोषणा 14 जुलाई को सुबह 10-30 बजे से की जाएगी। जिला पंचायत सदस्यों के परिणाम की घोषणा 15 जुलाई को एक साथ होगी। अंतिम चरण की जिला पंचायत की सीटों पर दोनों दलों के प्रत्याशी अधिक से अधिक सीट जीतने के लिए पूरा दम लगाएंगे। कांग्रेस को परिषद् बनाने के लिए 10 में से करीब 8 सीटें जीतना जरूरी है, जो एक बड़ी चुनौती है। भाजपा यूं तो सभी सीटें जीतने का प्रयास करेगी, लेकिन परिषद् में बहुमत के लिए उसका फोकस कम से कम 50 प्रतिशत सीटें जीतना रहेगा।
3 अधिकारी-कर्मचारी निलंबित
कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ पंकज जैन ने  शासकीय कार्य में लापरवाही, अनुशासनहीनता तथा दायित्वों का पूर्ण रूप से निर्वहन नहीं करने पर 3 अधिकारियों, कमर्चारी को निलंबत किया है। इनमें सहायक पशु चिकित्सा क्षेत्राधिकारी सादलपुरकिशोर सिंगारे, सहायक शिक्षक उमावि घटबोरी केशनसिंह सिसौदिया,  नर्मदा विकास संभाग क्रमांक कुक्षी सहायक वर्ग -2 रामसिंह बामनिया शामिल है। निलंबन काल में इन्हे नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ते देय होगा।
बॉक्स-1
गंदी राजनीति- अभी तक विकास की बातें अब धार्मिक धु्रविकरण की कोशिशें
वार्ड क्रमांक 14 अंतिम चरण की जिला पंचायत सीटों में सबसे हाईप्रोफाइल सीट बन गया है। यहां परा कांग्रेस समर्थित मनोजसिंह गौतम अपने छाते चुनाव चिह्न के साथ मैदान में है। भाजपा यहां एकजुटता बनाने में असफल साबित हुई है। दिग्ठान क्षेत्र की गुटबाजी ने भाजपा को फ्री फॉर आल करने पर मजबूर किया। इसके बाद संगठन दबाव में एक प्रत्याशी निर्भयसिंह पटेल को अधिकृत घोषित किया गया, लेकिन पार्टी से जुड़े 4 प्रमुख नेता जो निर्दलीय मैदान में खड़े है। उनका समर्थन पटेल को दिलाने में सफल साबित हुई। ऐसी परिस्थिति में भाजपा का वोट बंटने की संभावना है जिसके कारण मनोजसिंह गौतम एक मजबूत जीताऊ उम्मीदवार आंका जा रहा है। इधर अभी तक चुनावी मैदान में क्षेत्र के विकास का वादा करने वाले नेता   अब गंदी राजनीति पर उतर आए है। क्षेत्र में एक वॉट्सअप मैसेज का स्क्रीन शॉट  एक प्रत्याशी के समर्थकों द्वारा वायरल किया जा रहा है। इस मैसेज के आधार पर वोटों का धार्मिक धु्रविकरण करने की कोशिश की जा रही है। इस मैसेज में गौतम के साथ भाजपा नेता और जिला पंचायत के मजबूत उम्मीदवार धर्मेन्द्र जवरा को टारगेट किया गया है। मैसेज का मुख्य उद्देश्य धर्म के आधार पर लोगों को अपने पक्ष में मतदान कराने का दिखाई दे रहा है। हालांकि इस तरह का मैसेज वायरल होने के बाद लोग इस गंदे तरीके की राजनीति की निंदा कर रहे हैं। कई लोगों ने फेसबुक पर अपनी प्रतिक्रियाएं दी है। इस तरह की कोशिशों से यह स्पष्ट है कि चुनाव हारने के डर से प्रत्याशी अंतिम चरण में क्षेत्र के सौहार्द्र को भी बिगाड़ने की कोशिश कर सकते है। दरअसल यह चुनाव भाजपा-कांग्रेस से ज्यादा दिग्ठान में एक पार्टी विशेष से बड़ा और प्रभावशाली नेता कौन है इस बात के अहम की लड़ाई बन गया है। यही कारण है कि अपनों के मध्य खींचतान देखकर धार विधायक नीना वर्मा ने अपनी ही विधानसभा के जिला पंचायत के क्षेत्र में प्रचार से दूरियां बना रखी है। ना वह निर्भयसिंह पटेल का समर्थन कर रहे हैं और ना ही अन्य पार्टी से जुड़े मैदान में डटे उम्मीदवारों का।
बॉक्स-2
रात को भिड़े दो जिपं उम्मीदवारों के कार्यकर्ता
वार्ड क्रमांक 14 में गुरुवार रात को दो जिपं उम्मीदवारों के समर्थक ने अपने साथ विपक्षी दल के कार्यकर्ताओं द्वारा धमकाने और मारपीट की रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने दोनों पक्षों की रिपोर्ट दर्ज की है। फिलहाल कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। पहली रिपोर्ट सुलावड़ के  भारत पिता प्रतापसिंह रघुवंशी ने दर्ज कराई है। जिसमें निर्दलीय प्रत्याशी धर्मेन्द्र जवरा, उनके भाई अर्जुन जवरा, जसवंत जवरा द्वारा धमकाने और मारपीट का आरोप लगाया है। पीथमपुर पुलिस ने इस मामले में तीनों के विरुद्ध धारा 323, 506 और 34 के तहत प्रकरण दर्ज किया है। इधर अर्जुन जवरा की रिपोर्ट की रिपोर्ट पर  मलखान मोरी निवासी सुलावड़, भारत रघुवंशी सुलावड़, ओमप्रकाश रघुवंशी सुलावड और मोहन कछावा सुलावड़ व 5 अन्य के विरुद्ध धमकाने, गाली-गलौज करने के मामले में धारा 341, 323, 506 व 34 में प्रकरण पंजीबद्ध किया है। 
चित्र है


Share To:

Post A Comment: